बदनावर। क्षेत्र में करीब 80 प्रतिशत मतदान हुआ। एक लाख 55 हजार 986 मतदाताओं ने मतदान कर करीब 1474 प्रत्याशियों की हार-जीत का फैसला किया। इनमें जिला पंचायत सदस्य के चार, जनपद सदस्य के 25, ग्राम पंचायत के 89 सरपंच एवं 950 पंच शामिल हैं। चार बार ठप्पा लगाने के कारण मतदान प्रक्रिया में देरी हुई। जहां पुरुष को एक मत देने में पांच मिनट का समय लगा तो महिलाओं ने करीब सात मिनट में वोट डाला। यही कारण रहा कि मतदान के अंतिम समय दोपहर तीन बजे तक भी 65 प्रतिशत बूथों पर मतदान के लिए कतारें लगी थी। ऐसी परिस्थितियों में मतदाताओं को टोकन बांटे गए, जिससे कहीं-कहीं देर शाम तक करीब 15 मतदान केंद्रों पर मतदान चलता रहा।

जहां तीन बजे मतदान थम गया, वहां तुरंत बाद मतगणना प्रारंभ कर दी गई। जहां देर तक मतदान हुआ, वहां शाम को मतों की गिनती शुरू हुई। परिणामों की घोषणा 14 एवं 15 जुलाई को होगी, लेकिन मतों की गिनती पश्चात मतों के अंतर से लोगों ने हार-जीत का अंदाजा लगा लिया और जश्न मनाना शुरू कर दिया। तहसील में 286 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ। बोवनी कार्य को देखते हुए कामकाजी पुरुष एवं महिलाओं ने मतदान केंद्रों के बाहर सुबह छह बजे से ही कतारें लगानी शुरू कर दी थी। कामकाजी महिलाएं तो वोट डालने के तुरंत बाद अपने काम में लग गई। किसान व खेतीहर मजदूर मतदान कर खेतों में काम करने में जुट गए। एसडीएम वीरेंद्र कटारे, एसडीओपी शेरसिंह भूरिया, तहसीलदार अजमेरसिंह गौड़ समेत तमाम प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी निर्वाचन के संबंध में पल-पल की अपडेट लेते रहे। क्षेत्र का भ्रमण भी किया। कहीं से कोई अप्रिय घटना का समाचार नहीं मिला। शांतिपूर्वक मतदान होने से सभी ने राहत की सांस ली।

मतदाताओं को कोरोना रोधी 520 टीके लगाए

चिन्हित मतदान केंद्रों पर स्वास्थ्य विभाग ने बूस्टर डोज लगाई। 34 गांवों में मतदान केंद्र चयनित कर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कैंप लगाया। बूस्टर डोज से वंचित बुजुर्गों व दूसरी डोज से वंचित लोगों को टीके लगाए। 520 टीके मतदान केंद्रों पर लगाए गए।

उद्योग मंत्री ने किया मतदान

प्रदेश के औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री (उद्योग मंत्री) राजवर्धनसिंह दत्तीगांव शनिवार को क्षेत्र के विभिन्ना गांवों में पहुंचे। मतदान के लिए कतार में लगे मतदाताओं का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने गृह गांव भैंसोला स्थित मतदान केंद्र पर मतदान किया।

कुक्षी में 77.13 प्रतिशत मतदान

कुक्षी। कुक्षी जनपद क्षेत्र में 77.13 प्रतिशत मतदान हुआ। जनपद क्षेत्र में कुल 64 हजार 722 मतदाताओं में से 49 हजार 917 ने मतदान किया। 122 मतदान केंद्रों पर शाम 7ः15 बजे तक मतदान चला। पंचायत निर्वाचन की मानिटरिंग के लिए डिजिटल तरीके से की गई। कम्प्यूटर आपरेटरों ने मतदान की स्थिति की अपडेट, मतदान प्रतिशत, कतार में लगे मतदाताओं की जानकारी दी। कलेक्टर डा. पंकज जैन, एसपी आदित्य प्रताप सिंह, जिला पंचायत सीईओ केएल मीणा, एसडीएम नवजीवन विजय पंवार ने आंकड़ों की जानकारी ली। आइटी सेल अधिकारी सुबोध जैन, राहुल वाणी, अंशुल भावसार, ओमप्रकाश शर्मा, शुभम जोशी आदि ने कार्य किया। मतदान केंद्रों पर लंबी-लंबी कतारें नजर आईं। पुरुषों के साथ ही महिला मतदाताओं में मतदान के प्रति उत्साह देखा गया। जनपद क्षेत्र के कवड़ियाखेड़ा को आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया। दिव्यांग मतदाताओं के लिए मतदान केंद्रों पर व्हील चेयर व रेंप की व्यवस्था की गई। गर्मी से बचाव के लिए टेंट लगाए व शीतल पेयजल की व्यवस्था की गई।

डही में शाम सात बजे तक डाले मत, 75 प्रतिशत मतदान

डही। विकासखंड डही में करीब 75 प्रतिशत मतदान हुआ। हालांकि सात बजे तक भी मतदान के प्रतिशत का पूर्ण आंकड़ा पता नहीं चल पाया था। रात आठ बजे से ग्रामीण क्षेत्र से टीम लौटना शुरू हो गई थी। देर रात तक टीमों का आना और सामग्री का जमा कराने का कार्य चलता रहा। पंचायत चुनाव में अंचल में बारिश नहीं हुई। ऐसे में प्रशासन सहित उम्मीदवारों ने राहत की सांस ली। क्षेत्र में सुबह 11 बजे तक 52 प्रतिशत व दोपहर तीन बजे तक 70.65 प्रतिशत मतदान हो चुका था। ऐसे में 75 प्रतिशत के आसपास मतदान का अनुमान है। दोपहर तीन बजे से टोकन व्यवस्था के आधार पर कई केंद्रों पर मतदान जारी रहने से समाचार लिखे जाने तक कुल मतदान की जानकारी अप्राप्त रही। शाम सात बजे तक सभी 141 केंद्रों पर मतदान समाप्त हो चुका था। शाम सात बजे तक सात मतदान केंद्रों पर मतगणना भी समाप्त हो चुकी थी। शाम सात बजे तक सामग्री प्राप्ति स्थल उत्कृष्ट उमावि में कर्मचारियों की भीड़ रही, लेकिन उनके काउंटर खाली थे। क्योंकि इस वक्त तक एक भी टीम चुनाव कराकर वापस नहीं लौट पाई थी। ऐसे में देर रात तक यहां सामग्री जमा का कार्य चलता रहा। आरओ हितेंद्र भावसार, एआरओ राजेश भिंडे, सीईओ कंचन डोंगरे, बीईओ व नोडल अधिकारी सतीशचंद्र पाटीदार, वाहन नोडल अधिकारी गजेंद्रसिंह सोलंकी, बीआरसी मनोज दुबे, प्राचार्य व सामग्री वितरण के नोडल अरुण कुशवाह ने सामग्री वितरण व्यवस्था संभाली।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close