मनावर (नईदुनिया न्यूज)। जून की शुरुआत से ही आसमान में बादलों की आवाजाही तो चल रही है, लेकिन वर्षा नहीं हो रही। पिछले कई दिनों से लगातार आसमान में बादल छाए रहते है। बादलों के छाने के साथ मानसूनी हवाएं भी चल रही हैं। अभी तक क्षेत्र में दो बार ही वर्षा हुई है। अब अचानक वर्षा पर ब्रेक लगने से लोग गर्मी व उमस से हलकान हैं। रविवार को भी सुबह से सूरज देवता ने भी अपने तेवर दिखाए। दोपहर तीन बजे बाद अचानक ही मौसम ने करवट ली और ठंडी हवाओं का दौर शुरू हो गया जबकि दोपहर के समय लोग तेज धूप और उमस परेशान होते नजर आ रहे थे। लेकिन शाम होते ही ठंडक घुल गई। क्षेत्रों में किसानों के खेत तैयार हो चुके हैं। अब उन्हें अच्छी बारिश का इंतजार है।

किसानों का कहना है कि जून के तीसरे सप्ताह में मानसून सक्रिय हो जाता है। चार से पांच बार कभी तेज तो कहीं रिमझिम वर्षा हो जाती थी जिससे लोगों को उमस गर्मी से राहत मिल जाती थी। लेकिन इस वर्ष तो जून माह समाप्ति की ओर है। इसके बाद भी वर्षा नहीं होने से गर्मी, उमस अपना रूप दिखा रही है। प्रतिवर्ष जून के दूसरे सप्ताह तक प्रदेश में मानसून का प्रवेश हो जाता है और किसान भी बोवनी कार्य में लग जाते है। जल्द वर्षा की आस में किसानों ने अपने खेत तैयार कर लिए है। बस इंतजार है तो अच्छी वर्षा का। हालांकि कई किसानों ने तो गर्मी में सिंचाई के साधन होने से कपास, मक्का आदि की बोवनी कर फसल को बचाने के लिए ड्रिप, कुएं, ट्यूबवेल आदि द्वारा सिंचाई की जा रही है। लेकिन जिनके पास सिंचाई के साधन नहीं है, वह अभी वर्षा की ही राह देख रहे हैं। मौसम विशेषज्ञों का कहना है दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के चलने से वर्षा हो जाती है। लेकिन इन दिनों केवल पश्चिमी हवा चल रही है जिससे कि तेज वर्षा नहीं हो रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close