मनावर (नईदुनिया न्यूज)। हमारा संपूर्ण भारतवर्ष इस वर्ष आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। ये हम सभी के लिए बड़े ही गौरव और गर्व की बात है कि हर घर तिरंगा फहराने की अलख जगाई जा रही है। इसमें हमारे उन महान वीरों-वीरांगनाओं को स्मरण किया जा रहा है। जिन्होंने अपने राष्ट्र के लिए बलिदान हंसते-हंसते दे दिया। हमारे आश्रम द्वारा आधुनिक गुरुकुलों की स्थापना करने का लक्ष्‌य है। इसमें शास्त्र के साथ शस्त्रों का भी प्रशिक्षण दिया जा सके।

उक्त उद्गार ग्राम अजंदा में सोमवार को कथा व्यास साध्वी विचित्र रचना दीदी ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि हमारा इतिहास व भूगोल आदर्शो और अद्वितीय उदाहरणों से भरा हुआ हैं। इतना महान इतिहास जिस राष्ट्र का हो, वह कई सौ वर्षों तक गुलाम कैसे बना रहा, यह सोचने वाली बात है। साध्वी ने बताया कि इजरायल जैसा देश जो इतना छोटा हैं और चारों ओर से दुश्मनों से घिरा हुआ हैं, फिर भी कोई उसे जीत नहीं सकता है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में गुरुकुल लुप्त हो गए है। इसीलिए आधुनिक गुरुकुलों की स्थापना करने का लक्ष्‌य है, इसमें शास्त्र के साथ विभिन्ना शस्त्रों का भी प्रशिक्षण दिया जा सके। इसी संदर्भ में हमने एक संकल्प लिया हैं कि अखंड भारत शक्ति पीठ ट्रस्ट के माध्यम से आधुनिक गुरुकुलों का शुभारंभ भारत वर्ष के हर राज्य में किया जाए। गुरुकुल में गो-विज्ञान के माध्यम से गो पालन भी होगा ताकि गो हत्या रोकी जा सके। इसी कल्पना के साथ ग्राम अजंदा में शिष्या गंगाबाई मुकाती के सहयोग से आश्रम पर एक छोटी सी हस्तनिर्मित प्रदर्शनी भी लगाई गई है। जिसका अवलोकन कर दर्शक प्रेरणा पा सकेंगे। इस अवसर पर भाजपा नेता मोहन भायल, अभा सिर्वी समाज के केंद्रीय संरक्षक कैलाश मुकाती, समाजसेवी कैलाश राठौर तथा ग्रामीण जन आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close