बदनावर (नईदुनिया न्यूज)। जिला शिक्षा अधिकारी ने बुधवार को यहां शासकीय नंदराम चौपड़ा उत्कृष्ट उमावि सीएम राइज स्कूल में संकुल प्राचार्यों की बैठक लेकर नई शिक्षा नीति के बारे में अवगत कराया। विभागीय कार्यों की समीक्षा कर उन्हें समयावधि में पूर्ण करने के निर्देश दिए। गुजरात राज्य की तरह यहां भी तिथि भोज का आयोजन करने एवं निजी विद्यालयों से तालमेल बिठाने के निर्देश दिए। बैठक में बीईओ विक्रमसिंह राठौर मौजूद थे।

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी महेंद्र शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के परिपालन में शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए शाला एवं विद्यार्थी स्तर पर कवायद करने की जरूरत है। शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए अभिभावकों से भी संपर्क करें, उनमें जागरूकता लाएं। इसलिए विद्यालय में प्रतिमाह एसएमडीसी की बैठकों में पालकों का उन्मुखीकरण किया जाए। प्राचार्य, प्रधानाध्यापक, शिक्षक शाला में नियमित रूप से उपस्थित होकर शैक्षणिक संसाधनों का उपयोग करें, न कि उन्हें मात्र प्रदर्शन के लिए अपने पास रखें। निजी विद्यालयों के प्राचार्य से संपर्क करें और उन्हें शासकीय शालाओं को गोद लेने के लिए प्रेरित करें। यही नहीं निजी स्कूलों के शिक्षकों का परस्पर शैक्षिक भ्रमण भी एक से दूसरी शाला में करवाया जाए। विद्यालयों में लाइब्रेरी, प्रयोगशाला, खेल के मैदान आदि का विकास करें और उनका उपयोग विद्यार्थियों के लिए किया जाए। आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों को प्राथमिक शाला का भ्रमण करवाएं तथा यहां से कुछ शिक्षक आंगनबाड़ी केंद्र में जाकर बच्चों के सीखने-सिखाने की गतिविधियों को समझें।

जिला शिक्षा अधिकारी शर्मा ने कहा कि गुजरात के स्कूलों में तिथि भोज का आयोजन किया जाता है। आप भी स्वयंसेवी संगठन, दानदाताओं के माध्यम से उनकी जन्म तिथि, शादी, विवाह वर्षगांठ या अन्य कोई शुभ अवसर पर विद्यार्थियों को मध्यान्ह भोजन के साथ अतिरिक्त पोषण आहार उपलब्ध कराने के लिए प्रेरित करें। इस बारे में सामाजिक संगठनों से भी संपर्क किया जा सकता है। शाला त्यागी दर घटाने और नामांकन बढ़ाने पर विशेष जोर दिया जाए एवं दिव्यांग छात्र-छात्राओं पर ध्यान दें। आपने यदा-कदा एवजी (प्राक्सी) शिक्षकों के संबंध में भी स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा है कि वास्तविक शिक्षक ही विद्यालय में पढ़ाने के लिए आए। विद्यालयों में शिक्षकों के फोटोग्राफ, उनका नाम, विषय, मोबाइल नंबर एवं उनसे परिचय संबंधी जानकारी के फ्लेक्स आगामी 22 अगस्त तक अनिवार्य रूप से लगाए जाए।

सेवानिवृत्त शिक्षकों को आमंत्रित करें

शर्मा ने कहा कि सेवानिवृत्त शिक्षकों से जीवंत संपर्क करें और उनसे सहमति प्राप्त कर विद्यालय में उनको आमंत्रित करें तथा उनके अनुभवों का उपयोग लें। वे विद्यार्थियों के उन्मुखीकरण में सहायक हो सकते हैं। इसके लिए उनके रुकने, ठहरने एवं भोजन की व्यवस्था शाला द्वारा की जा सकती है। शिक्षकों के पद जहां रिक्त हो, वहां अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था तत्काल प्रभाव से सुनिश्चित करें। सीसीएलई की गतिविधियां समूह बनाकर कक्षाओं में करें, जिससे विद्यार्थियों में लेखन, वाचन एवं व्याख्यान जैसी दक्षता विकसित हो। प्रतिदिन शालाओं में एक कालखंड विभिन्ना सांस्कृतिक गतिविधियों के लिए भी अलग से रखा जाए। संकुल प्राचार्यों को निर्देशित किया कि वे नियमित रूप से अपने-अपने संकुल अंतर्गत लगने वाली शालाओं का औचक निरीक्षण करें और कमियां पाई जाने पर उन्हें दूर करें। सीएम राइज स्कूल बदनावर एवं नागदा के विद्यार्थियों को विद्यालय तक लाने व ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था रहेगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close