धार (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में जन्माष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। सुबह से शहर के कृष्ण मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहा। त्रिमूर्ति स्थित श्री सांवरिया सेठ मंदिर में भगवान कृष्ण का विशेष श्रृंगार किया गया। वहीं रात्रि 12 बजे महाआरती कर भगवान का जन्मोत्सव मनाया गया। अखिल भारतीय यादव महासभा के तत्वावधान में शोभायात्रा निकाली गई। इसमें हजारों की संख्या में समाजजन शामिल हुए। तीन किलोमीटर की यात्रा निकालने के बाद राजबाड़ा स्थित गोपाल मंदिर में महाआरती हुई। इसके बाद माखन मिश्री की प्रसादी वितरण की गई। शाम होते ही शहर के प्रमुख चौराहों पर मटकी यंधने का सिलसिला शुरू हुआ। रात्रि 11ः30 बजे से युवाओं की टोली मटकी फोड़ने के लिए निकली। शहर में मटकी फोड़ कार्यक्रम रात्रि 1ः30 बजे तक जारी रहा।

गौरतलब है कि दो सालों से कोरोना काल होने के कारण जन्माष्टमी का पर्व सांकेतिक रूप से मनाया जा रहा था। इस बार संक्रमण नहीं होने के कारण यह पर्व बड़े ही उत्साह के साथ मनाया गया। शुक्रवार को जन्माष्टमी पर्व पर शहर में एक अलग की धूम देखने को मिली। शहर में 50 से अधिक स्थानों पर देर रात तक मटकी फोड़ आयोजन हुए। पर्व पर राजवाड़ा स्थित गोपाल मंदिर को विशेष रूप से सजाया गया। सुबह से भक्तों की भीड़ यहां देखी गई जो रात्रि 12ः00 बजे महाआरती तक जारी रही। महाआरती में सैकड़ों की संख्या में भक्त शामिल हुए।

1500 समाजजन शामिल हुए

अखिल भारतीय यादव महासभा द्वारा जन्माष्टमी पर शोभायात्रा निकाली। यात्रा के पूर्व सभा का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव यादव ने सभा को संबोधित किया। वहीं अध्यक्षता समिति अध्यक्ष हुकुम लश्करी ने की। सभा के बाद त्रिमूर्ति से सांवरिया सेठ मंदिर से भगवान श्रीकृष्ण की शोभायात्रा प्रारंभ हुई। घोड़ा चौपाटी, आनंद चौपाटी, महात्मा गांधी मार्ग होते हुए राजबाड़ा चौक स्थित गोपाल मंदिर पहुंची जहां महाआरती कर प्रसाद वितरण किया गया। यात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया। करीब 1500 समाजजनों ने इस यात्रा में भागीदारी निभाई है। इस मौके पर कन्हैयालाल यादव, राधेश्याम यादव, गंगाराम यादव, भोला यादव, विजय गवली, राजेश यादव, मोहनलाल यादव सहित समाजजन मौजूद थे।

शोभायात्रा में बच्चों से लेकर बुजुर्ग शामिल हुए। । पूरे रास्ते महिलाएं व युवतियां श्रीकृष्ण के भजनों पर थिरकती हुई नजर आई।

खास-खास

-सुबह से मंदिरों में लगा भक्तों का तांता

-रात्रि 12 बजे महाआरती के साथ मनाया भगवान का जन्मोत्सव

-50 से अधिक स्थानों पर मटकी फोड़ के आयोजन हुए

-रात्रि 1ः30 तक युवकों की टोलियों ने फोड़ी मटकी

-शोभायात्रा में 1500 समाजजन शामिल

-यात्रा में बग्घी में भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति विराजित

-पूरे रास्ते महिलाएं व युवतियां कृष्ण भजनों पर थिरकी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close