धार। मध्‍य प्रदेश के धार जिले में नालछा विकासखंड की ग्राम पंचायत करमतलाई के मजरे सामरिया के ग्रामीण इन दिनों पीने के पानी की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं। सामरिया पहाड़ी पर बसा है।

दो किमी दूर जाकर एक हजार फीट गहरी खाई में

यहां के लोगों को दो किमी दूर जाकर एक हजार फीट गहरी खाई में उतरना पड़ता है, झिरियों में पानी छानकर भरना पड़ता है, फिर सिर पर घड़े व केन रखकर पहाड़ी चढ़ गांव आना होता है। बूंद-बूंद पानी सहेजने की इस जद्दोजहद में चार किमी पैदल आने-जाने में ग्रामीणों का पूरा दिन बिगड़ जाता है। जल मिशन योजना की सौगात गांव को मिली है, लेकिन उससे अभी पानी नहीं मिल पा रहा है।

सामरिया तालाब पेयजल का मुख्य स्रोत

पेयजल संकट के बारे में इस गांव के सुभाष मेड़ा, कुमारी पाचूड़ी बाबूलाल का कहना है कि सामरिया तालाब यहां पेयजल का मुख्य स्रोत है, लेकिन यह गर्मी की शुरुआत होने से पूर्व ही सूख जाता है। आधा किमी दूर हैंडपंप है, लेकिन जलस्तर कम होने से उसमें से नाममात्र का पानी निकलता है।

पेयजल टंकी बनाई गई और पाइप लाइन भी डाली गई

जानकारी के अनुसार जल मिशन योजनांतर्गत गांव में पेयजल टंकी बनाई गई थी। पाइप लाइन भी डाली गई थी। पानी देना शुरू किया गया था, लेकिन कुछ ही दिनों में यह बंद हो गया। उधर, राकेश डावर, एसडीओ, स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग नालछा कहते हैं कि जल मिशन योजनांतर्गत ग्राम सामरिया में मैकेनिकल टीम काम कर रही है।उन्‍होंने कहा कि दिखवाता हूं कि कहां दिक्कत आ रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close