Madhya Pradesh News: अशोक गुप्ता, कुक्षी (नईदुनिया)। कोरोना संक्रमण से 21 वर्षीय बेटे को खोने वाली स्वास्थ्य केंद्र की नर्स नीलिमा धोगड़े ने सिविल हॉस्पिटल में वैक्सीन बॉक्स की पूजा की। उस क्षण उनकी आंखें भर आई। मां ने कहा कि ये वैक्सीन अब हर मां के लाल को सुरक्षित करे।

प‍िछले साल अप्रैल में कोरोना से गई बेटे की जान

कोरोना के प्रारंभिक काल में नगर की अभिनंदन कॉलोनी में निवासरत नीलिमा धोगड़े ने बेटे ऋषभ को कोरोना वायरस से 19 अप्रैल 2020 को खोया था।

धार ज‍िले में कोरोना संक्रमण से पहली मौत थी

कोरोना से यह जिले की पहली मौत थी। अपने बेटे की मौत का दुख सहन करने वाली मां ने 23 जनवरी को कोरोना वैक्सीन के कुक्षी स्वास्थ्य केंद्र में आगमन पर उसका स्वागत किया।

वैक्सीन से अब करोड़ों लोगों को लाभ मिलेगा

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कोरोना जैसी महामारी कभी भुलाई नहीं जा सकती।इस वैक्सीन से अब करोड़ों लोगों को लाभ मिलेगा। मैंने अपने बेटे को खोया है। इसका दर्द मुझे हमेशा रहेगा। अपनों से दूर होना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए सभी से निवेदन करती हूं कि कोरोना की वैक्सीन लगवाएं अफवाहों पर ध्यान ना दें।

स्टाफ नर्स नीलिमा के कार्यों की प्रशंसा

स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ डॉ. अभिषेक रावत ने स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत स्टाफ नर्स नीलिमा के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा अपने बेटे को खोने के बाद भी वे कोरोना काल में अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित रहीं और उन्होंने सौंपे गए दायित्व निभाए।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags