गुजरी। राऊ-खलघाट फोरलेन के गणपति घाट पर आए दिन हादसे हो रहे हैं। गणपति घाट की पहचान मौत के घाट से होने लगी है। वहीं अब गुजरी के समीप गातावार में धार व इंदौर जाने वाली सड़क है। धार रोड के अंधे मोड़ पर हादसों का ग्राफ दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। 17 दिन में यहां दो बड़े हादसे हुए हैं। इनमें एक महिला की मौत व 15 लोग घायल हो चुके हैं। यदि प्रशासन ने हादसे रोकने के लिए समय पर ध्यान नहीं दिया, तो किसी दिन बड़ा हादसा हो सकता है। हादसों पर लगाम लगाने के लिए सुरक्षा के उपाय करना बहुत आवश्यक हो गया है।

गौरतलब है कि यहां दो सड़कें गुजरती हैं। एक धार की ओर जाती है, तो दूसरी राऊ-खलघाट फोरलेन इंदौर की ओर। धार रोड 10 फीट ऊपर की ओर है। जबकि इंदौर बायपास नीचे है। धार रोड पर गातावार के यहां अंधा मोड़ है। जहां रात के समय अंधेरा रहता है। धार से आने वाले वाहन तेज गति में होने से अनियंत्रित होकर मोड़ पर हादसे का शिकार हो जाते हैं। इससे वाहन धार रोड से 10 फीट नीचे इंदौर जाने वाले बायपास पर गिर जाते हैं। हादसों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन को वाहनों की गति नियंत्रण के लिए मोड़ से पहले स्पीड ब्रेकर या कोई अन्य उपाय करना होंगे।

इस मोड़ पर पहले भी कई हादसे हो चुके हैं, जिनमें कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। 6 महीने पहले यहां तीन युवक वैवाहिक समारोह में शामिल होने के बाद बाइक से अपने घर लौट रहे थे। तभी मोड़ पर अनियंत्रित होकर इंदौर जाने वाले बायपास पर जा गिरे। जहां एक अज्ञात वाहन की चपेट में आने से तीनों युवकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इसके पहले दो ट्रक इसी तरह यहां से गिर चुके हैं। इनमें भी चालकों की मौत हुई थी। 11 नवंबर को एक बस पलटी खा गई थी। इसमें एक महिला की मौत व 6 लोग घायल हुए थे। हादसों के बावजूद प्रशासन इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। 6 महीने पहले हुए हादसे में रेलिंग व बोर्ड टूट गया था, जो अभी तक नहीं सुधारा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस