धार। नईदुनिया प्रतिनिधि। Mob lynching in Madhya Pradesh गांव बोरलाई में उन्मादी भीड़ की हिंसा के मामले में मुख्य आरोपित अवतारसिंह को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही उसके पिता गुलाब पिता लक्ष्मण और भाई सुनील पिता गुलाब को भी पकड़ा गया है।

अब तक हिंसा मामले में 30 अारोपितों को किया गिरफ्तार

इन्हें मिलाकर अब तक 30 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। ये तीनों ही दाढ़ी बढ़ाकर वेश बदलकर भागने की फिराक में थे।

तीनों आरोपित गुजरात जाने के लिए बोरी कुंडल फाटे पर बैठे थे

पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि मास्टर माइंड सहित तीनों आरोपित गुजरात जाने के लिए बोरी कुंडल फाटे पर बैठे थे, तभी गिरफ्तारी की गई। इसके पूर्व अवतारसिंह को पकड़ने के लिए तिरला पुलिस ने गांव देदली के जंगल की खाक छानी, जहां वह पहले कभी नहीं पहुंची थी। अवतार वही व्यक्ति है जिसने पूरी घटना का षड्यंत्र रचा था। किसानों को बुलाकर और मारपीट करवाने से लेकर बच्चा चोर की अफवाह फैलाने में आगे रहा था।

यह है मामला

गत दिनों उज्जैन और सांवेर के किसान एडवांस के तौर पर दिए रुपए लेने के लिए खिरकिया गए थे। यहां पर मजदूरों ने किसानों को बुलाकर मारपीट की। इसके बाद जब ये किसान कार से सुरक्षित निकलने का प्रयास कर रहे थे तो मजदूरों और उनसे जुड़े हुए लोगों ने बच्चा चोर की अफवाह फैलाकर बोरलाई के लोगों को मारपीट के लिए उकसाया। उन्मादी भीड़ की हिंसा में किसान गणेश पटेल की मौत हो गई थी, जबकि पांच किसान घायल हुए थे।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket