धार-टांडा, नईदुनिया प्रतिनिधि। टांडा घाट पर बदमाशों ने सोमवार देर शाम जमकर उत्पात मचाया। यहां से निकल रहे वाहनों पर पथराव कर लूटने का प्रयास किया, लेकिन ड्राइवरों की हिम्मत के आगे उनके मंसूबे कामयाब नहीं हो सके। बदमाशों ने बस सहित 6 चारपहिया वाहनों पर पत्थर फेंके। पथराव में बस के कांच फूट गए, जिससे ड्राइवर सहित सवारियों को चोट आई, लेकिन ड्राइवर पथराव के बीच हौसला दिखाते हुए बस को निकाल ले गया और आधा किलोमीटर दूर जाकर सुरक्षित स्थान पर बस रोकी। फिर पीछे आ रहे अन्य वाहनों को रोककर वारदात बताई और उनके साथ बस को थाने लेकर पहुंचा। बस में 25 यात्री सवार थे। वहीं रात में वारदात का शिकार कई कार सवार भी थाने पहुंचे।

जानकरी अनुसर सोमवार रात करीब 7 से 8 बजे के बीच टांडा में जेतघाट पर 6 वाहनों को लूटने का प्रयास किया गया। इंदौर से जोबट जा रही यात्री बस पर पत्थरों से हमला किया गया। इससे बस के आगे का कांच फूट गया। ड्राइवर को हाथ में चोट आई। आगे के कांच उड़कर सवारियों को लगे। वहीं पीछे भी बदमाशों ने पत्थर फेंककर बस को रोकने का प्रयास किया। लेकिन ड्राइवर ने आधा किलोमीटर दूर जाकर ग्राम जेतगढ़ की धर्मशाला के पास बस रोकी और वहां से अन्य वाहनों के साथ टांडा थाने पहुंचा।

वहीं कार चालक व वकील राहुल माहेश्वरी ने बताया कि वे देर शाम करीब 7.30 बजे टांडा से कुक्षी कार से जा रहे थे इसी दौरान घाट के पास तीन बाइक सवारों ने कार के आगे बाइक रोकी। पत्थर रखकर कार रोकने के प्रयास किया, लेकिन हमने कार रोकी नहीं, धीरे-धीरे आगे बढ़ाई किंतु बदमाशों ने पत्थर चलाना शुरू कर दिए। इससे कार का आगे का कांच फूट गया। दोस्त मनोज को भी पथराव में चोट लगी। राहुल ने बताया कि उन्होंने सीधे थाने पर जाकर सूचना दी।

साइड ग्लास में देखा तो पत्थर लेकर दौड़ रहे थे बदमाश

हमारी बस इंदौर से जोबट चलती है। रात करीब 8.10 बजे बस टांडा घाट पर पहुंची। बस में 25 सवारियां थीं। जैसे ही पुलिया के पास बस पहुंची तो लाइट में आगे देखा कि सड़क के किनारे कुछ लोग बैठे हैं। बस नजदीक पहुंची तो वे उठकर पत्थर चलाने लगे। इससे आगे का कांच फूट गया। एक पत्थर मेरे हाथ में लगा। दनादन पत्थर चलने से सभी यात्री घबरा गए। कंडक्टर साइड से भी पत्थर चलने लगे। हाथ में पत्थर लगा, लेकिन मैंने गाड़ी रोकी नहीं। साइड ग्लास में देखा तो बदमाश पत्थर लेकर दौड़ रहे थे। पीछे डिक्की में कुछ पत्थर लगे। बस को तेजी से आधा किलोमीदर दूर भगाकर ले गए। आगे एक ध्ार्मशाला पर बस रोकी। यात्रियों को पानी पिलाया। सभी घबरा गए थे। कुछ यात्रियों को कांच लगने से चोट आई थी। वहीं पुलिस को फोन किया लेकिन पुलिस नहीं आई। फिर कुछ वाहन इकट्ठा हुए तो बस थाने पर लेकर गए।

(जैसा बस ड्राइवर मांगीलाल डावर ने नईदुनिया को घटना के बाद बताया)

एक घंटे में 6 से ज्यादा वाहनों पर पथराव

कार में सवार वकील राहुल ने बताया कि पथराव के बाद वे कार को सीधे थाने लेकर पहुंचे। इसके बाद करीब 5 से 6 वाहनों पर भी पथराव की जानकारी सामने आई थी। मौके पर 100 डायल भी गई थी लेकिन कुछ नहीं मिला। 100 डायल के पायलेट बायसिंह पंवार ने बताया कि एसआई परिहार, शांतिलाल नगर सैनिक के साथ मौके पर पहुंचे थे। दो किलोमीटर तक सर्चिंग की गई, लेकिन कोई नहीं मिली। बस व वाहनों को जेतघाट से आगे छोड़ा।