धार। बसंत पंचमी का पर्व यहां धूमधाम से मनाया जाना है। साल में एक बार भोजशाला में हिंदू समाज को पूजा-अर्चना से लेकर हवन की अनुमति होती है। इसके लिए आयोजन समिति तैयारी पूर्ण कर चुकी है। भोजशाला को दुल्हन की तरह सजाया गया है। परंपरागत तरीके से होने वाले आयोजन के लिए भी तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं।

मुख्य रूप से 10 फरवरी को सुबह से ही भोजशाला में मां सरस्वती और राजा भोज की जयघोष होगी। इस आयोजन में बड़ी संख्या में लोग शामिल हों इसके लिए शनिवार को आयोजन समिति के लोगों ने घर-घर पहुंचकर निमंत्रण दिए। वहीं इस बासंती महौल में धार भगवामय हो गया है। शहर के प्रमुख मार्गों को भगवा पताकाओं से सजाया गया है। इधर पुलिस प्रशासन भी अपने स्तर पर चौकन्ना है। सुरक्षा को लेकर किसी तरह की कोई खामी नहीं रखी जा रही है।

भोज उत्सव समिति ने चार दिवसीय भोज महोत्सव के लिए पूरे नगर को भगवा पताका से सजाया गया है। भोजशाला परिसर और मां वाग्देवी मंदिर भोजशाला की सजावट की गई है। भोज महोत्सव के अंतर्गत सुबह 10 बजे उदाजीराव चौराहा लालबाग से शोभायात्रा नगर के प्रमुख मार्गों से होती हुई दोपहर 12 बजे भोजशाला पहुंचेगी।

ये करेंगे सभा को संबोधित

यहां पर मां सरस्वती की महाआरती के पश्चात हिंदू समाज की विशाल शोभायात्रा में परमहंस अवधेशपुरी क्रांतिकारी संत एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष दबंग हिंदू सेना तथा प्रखर हिंदू वक्ता परम पूज्य साध्वी सरस्वती दीदी उपस्थित रहेंगी। इन दोनों ही ओजस्वी वक्ताओं द्वारा विशाल धर्मसभा को संबोधित किया जाएगा। शोभायात्रा, महाआरती एवं धर्मसभा में शामिल होने के लिए भोजउत्सव समिति एवं हिंदू जागरण मच धार के द्वारकाधीश राठौर, अशोक जैन, गोपाल शर्मा, द्वारका अग्रवाल, हेमंत दौराया, विश्वास पांडे, श्याम मालवा, ओम प्रजापत, जगदीश राठौर, दीपक गोड़, सुधीर वाजपेयी, सुमित चौधरी आदि ने मां वागदेवी का चित्र भेंट कर घर-घर निमंत्रण दिया। इधर भोज केसरी दंगल से लेकर अन्य कई आयोजन भी 10 फरवरी से शुरू होंगे। विशेष रूप से भोज केसरी दंगल की एक परंपरा रही है।

पुलिस की चार कंपनियों के साथ अतिरिक्त बल

इधर भोजशाला के बाहर लोगों की आवाजाही सही रहे इसके लिए बैरिकेड्स लगा दिए गए हैं। किसी तरह से विषम स्थिति नहीं है इसलिए जिग जेक वाले बैरिकेड्स नहीं लगाए गए हैं। इसके अलावा भोजशाला के भीतरी क्षेत्र में सफाई से लेकर सुरक्षा के मद्देनजर अतिरिक्त ध्यान दिया गया है। माना जा रहा है कि यहां पर सुरक्षा बल को लेकर कोई कमी नहीं रहेगी। चार कंपनियां से लेकर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रहेगा। डीआईजी और कमिश्नर दोनों ही आकर यहां पर दौरा करके निरीक्षण कर चुके हैं। साथ ही निर्देश भी दे चुके हैं। ऐसे में यहां के जितने भी आयोजन हैं उस पर सुरक्षा को लेकर अतिरिक्त ध्यान दिया जा रहा है।

साप्ताहिक हाट की व्यवस्था बदलेगी

लंबे समय बाद बसंत पंचमी और रविवार एक साथ आ रहे हैं। जिस मोतीबाग चौक में धर्मसभा का आयोजन हो रहा है वहीं पर साप्ताहिक हाट लगता है ऐसे में रविवार को हाट की व्यवस्था बदली हुई रहेगी।

Posted By: