डिंडौरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं से हितग्राहियों को लाभान्वित करने और ग्रामीणों की समस्याओं का गांव में ही निराकरण करने के उद्देश्य से कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने गत दिवस जनपद मेहंदवानी की ग्राम पंचायत बुल्दा में चौपाल लगाई। कलेक्टर ने आंगनबाड़ी केंद्रों में कुपोषित बच्चों के इलाज व एनीमिक बच्चों की जानकारी उपलब्ध नहीं कराने पर परियोजना अधिकारी मेंहदवानी को कारण बताओ नोटिस जारी करने और दो वेतन वृद्धि रोकने के निर्देश दिए। चौपाल में बताया गया कि जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना से जिले के किसानों को लाभान्वित किया जा रहा है। प्रथम चरण में जिले में 13 हजार 612 किसानों को लाभान्वित किया जा चुका है। जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना के अंतर्गत किसानों के कर्ज माफी का कार्य लगातार जारी है। जिले में सभी पात्रताधारी किसानों के फसल ऋ ण भी माफ कर दिए जाएंगे।

हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं की नियमित करें जांच

कलेक्टर ने कहा कि जिले के दूर-सुदूर क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ लोगों को मिलना चाहिए। मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए फील्ड स्तर का अमला हमेशा तैनात रहे। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिलाओं और बच्चों का नियमित रुप से स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं का नियमित रुप से इलाज किया जाए और पोषण आहार भी दिया जाए। हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं का प्रसव स्वास्थ्य केंद्रों में कराया जाए। चौपाल में बताया गया कि जिले में ग्र्राम पंचायत स्तर पर वित्तीय समावेशन व साक्षरता अभियान से संबंधित गतिविधियों को संचालित किया जा रहा है। वित्तीय समावेशन व साक्षरता अभियान कार्यक्रम में उपभोक्ताओं के खाते खोलकर उन्हें रुपए कार्ड प्रदान किए जाएं, जिससे लोगों को शासन की योजनाओं का लाभ मिल सके।

राजस्व प्रकरणों की ली जानकारी

चौपाल में ग्राम पंचायत बुल्दा में पेंशनधारी हितग्राहियों के संबंध में जानकारी ली गई। पंचायत सचिव द्वारा बताया गया कि ग्राम पंचायत बुल्दा में 173 पेंशनधारियों को नियमित रुप से पेंशन दी जाती है। खाद्यान्न वितरण के संबंध में भी जानकारी लेने के साथ राजस्व प्रकरणों की भी समीक्षा कलेक्टर द्वारा की गई। ग्राम पंचायत में लंबित पट्टा वितरण, सीमांकन, बंटवारा, विवादित, अविवादित प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए गए। कलेक्टर ने सामुदायिक स्वास्थ्य केेद्र मेंहदवानी का भी निरीक्षण किया। चौपाल में जिला पंचायत सीईओ एमएल वर्मा, एसडीएम शहपुरा ऋ षभ जैन, सहायक आयुक्त डॉ. अमर सिंह उईके सहित जिला व जनपद स्तरीय अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।