डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आदिवासी बहुल जिले में यातायात नियमों के उल्लंघन से ही अधिकांश सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। डिंडौरी जिले में लगभग दो सैकड़ा लोगों की मौत अलग-अलग दुर्घटनाओं में ही हो जाती है। लोगों की लापरवाही का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि केवल जिला मुख्यालय में ही यातायात पुलिस ने विगत 11 माह में 29 सौ से अधिक बिना हेलमेट लगाए बाइक से फर्राटे भर रहे लोगों के चालान काटे हैं। गलत दिशा में वाहन चलाने के साथ नाबालिगों द्वारा तेज रफ्तार बाजार में वाहन चलाने के भी लगातार मामले सामने आ रहे हैं। लोग लापरवाही पूर्वक बिना सीट बेल्ट के चार पहिया वाहन भी दौड़ाते हैं। यातायात नियमों का उल्लंघन दुर्घटना का सबसे बड़ा कारण बनकर सामने आ रहा है।

सड़क में लग रहे बाजार से समस्या

जिले के लिए सबसे बड़ी समस्या यह है कि जबलपुर से अमरकंटक और डिंडौरी से मंडला सहित अन्य महत्वपूर्ण मार्गों में स्थिति यह है कि मुख्य मार्ग के किनारे ही साप्ताहिक बाजार लगते हैं। जबलपुर अमरकंटक मार्ग में विक्रमपुर के साथ शहपुरा, शाहपुर, अमेरा, कोहानी देवरी, गाड़ासरई, गोरखपुर, रुसा, करंजिया सहित मंडला मार्ग में किसलपुरी, सक्का व अन्य स्थानों में यह हाल है। दुकानें मुख्य मार्ग से सटाकर लगाई जाती हैं ऐसे में वाहन चालकों को जहां समस्या होती है, वहीं दुर्घटनाएं होना आम बात हो गई है।

घाट और अंधे मोड़ दुर्घटना का कारण

जिले में सड़क दुर्घटनाओं का कारण मुख्य रुप से घाट और अंधे मोड़ होना सामने आ रहा है। शहपुरा से लेकर करंजिया और मंडला मार्ग में भी घाट व अंधे मोड़ के चलते इस मार्ग पर नए वाहन चालक अक्सर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। इसके अलावा मुख्य मार्ग में अतिक्रमण, साप्ताहिक बाजार लगने, यातायात संकेतकों का पालन न करना, शराब के नशे में वाहन चलाना भी सड़क हादसों को कारण बन रहा है।

जुर्माना के तौर पर वसूले गए लगभग 12 लाख

यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर यातायात पुलिस द्वारा ही जिला मुख्यालय में कार्रवाई करते हुए जनवरी 2020 से अब तक लगभग 11 माह में 11 लाख 74 हजार 500 से अधिक की जुर्माना के तौर पर वसूली की गई है। बताया गया कि बिना हेलमेट के वाहन चलाने के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं। केवल नवंबर माह में ही 536 चालान काटे गए हैं। संकेतों का उल्लंघन करने पर लगभग 300 से अधिक लापरवाहों पर कार्रवाई हुई है। यह आंकड़े केवल यातायात पुलिस के हैं। इस तरह जिले के थाना और चौकी पुलिस ने भी अलग-अलग कार्रवाई की है।

इनका कहना है

जिले भर में सड़क दुर्घटनाएं लापरवाही के चलते ही हो रही हैं। लोगों को यातायात नियमों को लेकर जागरुक होने की आवश्यकता है। यातायात पुलिस द्वारा भी आगरुकता को लेकर आवश्यक पहल की जाएगी। जहां तक मुख्य मार्ग में बाजार लगने की बात है तो यह महत्वपूर्ण समस्या है। इस पर भी पहल करने की आवश्यकता है।

संजय सिंह

एसपी डिंडौरी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस