डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आदिवासी बहुल जिले डिंडौरी में यूं तो प्रतिदिन आधा सैकडा से अधिक मरीज कोरोना वायरस से संक्रमित मिल रहे हैं, लेकिन राहत की बात यह है कि जिले भर के 822 गांव अभी भी पूरी तरीके से कोरोना संक्रमण मुक्त है। ग्रामीणों की जागरूकता के साथ किल कोरोना अभियान में की जा रही सार्थक पहल से यह जिले के लिए राहत की बात है। जिले भर के कुल 927 गांव में से 105 गांव ही कोरोना संक्रमण से प्रभावित हैं। कुछ गांव में ग्रामीण स्वास्थ्य अमले के साथ आगे आकर संक्रमण को रोकने में जुटे है। जिले के शहपुरा, डिंडौरी, समनापुर, करंजिया, बजाग जनपद क्षेत्र के गांव आंकड़ो में अधिक प्रभावित है। यहां कलेक्टर के निर्देश ने विशेष अभियान भी स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा चलाया जा रहा है।

दूर-दूर बसाहट से मिल रही है राहत

जिलेभर की कुल आबादी सात लाख से अधिक है। घने जंगलों के साथ 6128 किलोमीटर क्षेत्रफल में बसे डिंडौरी जिले में बसाहट दूर दूर होने से भी संक्रमण से राहत मिल रही है। लगभग दो दर्जन वन ग्राम में संक्रमण न के बराबर है। गौरतलब है कि अब तक जिले भर में लगभग 3792 मरीज संक्रमित मिल चुके हैं।अधिकांश मरीज शहरी क्षेत्र के साथ कस्बाई क्षेत्र के है।

लगातार बढाए जा रहे ऑक्सीजन बेड

कलेक्टर रत्नाकर झा ने बताया कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढाने के लिए तेजी से प्रयास किए जा रहे हैं। जिला अस्पताल में 20 ऑक्सीजन सपोर्ट बेड और शुरू कर दिए गए हैं। अब जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सपोर्ट बेड की संख्या पचासी हो गई हैं। इसी तरह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र समनापुर में 10, करंजिया और बजाग स्वास्थ्य केंद्र में दस दस, गाडासरई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पांच ऑक्सीजन बेड दो-तीन दिन में शुरू हो जाएंगे। ऐसे में कोरोना संक्रमित ऐसे मरीज जिन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है उन्हें तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ही ऑक्सीजन सपोर्ट बेड की व्यवस्था हो जाएगी। यहां के अमले को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है।

इनका कहना है

फोटो-8-रत्नाकर झा।

जिले भर में कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। किल कोरोना अभियान के तहत भी घर घर जाकर स्वास्थ विभाग का अमला लोगों की जांच करने के साथ उन्हें कोरोना संक्रमण से बचने की जानकारी दे रहा है। मैं स्वयं ग्रामीण क्षेत्रों का लगातार निरीक्षण कर रहा हूं। मैदानी अमले को भी इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है। लोगों में जागरूकता आ रही है, जिन गांव में संक्रमण है वहां के लोग भी अब जागरूक हो रहे हैं। जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं का और विस्तार किया जा रहा है। जिला अस्पताल में 20 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट के और शुरू हो गए हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र समनापुर, करंजिया, बजाग में दस दस बेड और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गाडासरई में पांच ऑक्सीजन बेड की सुविधा दो-तीन दिन में शुरू हो जाएगी। यहां मरीजों को रखकर इलाज किया जा सकेगा। लोगों को अफवाह में न आकर वैक्सीन लगवाना चाहिए।

रत्नाकर झा

कलेक्टर डिंडौरी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags