डिंडौरी गोरखपुर (नईदुनिया न्यूज)। विकासखंड करंजिया अंतर्गत कस्बा गोरखपुर में शनिवार को कोरोना कर्फ्यू के दौरान प्रशासन की ओर से आवश्यक वस्तुओं की खरीददारी करने के लिए आमजन को दी गई छूट में कोरोना प्रोटोकॉल के नियम की बाजार के अंदर खुलेआम धज्जियां उडती रहीं। छूट की खबर सुनकर वस्तुओं की खरीददारी करने के लिए लोगों की भीड ने न तो शारीरिक दूरी के नियम का पालन किया और न ही मास्क लगाना जरूरी समझा। गौरतलब हैं कि प्रशासन ने कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए कोरोना कर्फ्यू की अवधि को पुनः बढाकर 17 मई कर दिया हैं। इसके पहले आम आदमी की जरुरतों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने आमजन के लिए रोजमर्रा की वस्तु किराना, फल आदि कुछ दुकानों को खोलकर एक दिन की ढिलाई दी थी, ताकि नागरिक 17 मई तक लगें कोरोना कर्फ्यू काल के लिए नियमों का पालन करतें हुए आवश्यक सामग्री की खरीददारी कर लें।

नायब तहसीलदार ने दी समझाइश

शनिवार को कस्बा के बाजार में उमडी भीड ने नियमों को ताक में रखकर खरीददारी करती रही। आखिरकार जब करंजिया नायब तहसीलदार दिनेश वरकडे कस्बा के बाजार का हाल जानने पहुंचे और बाजार का दृश्य देखकर बेतरतीब भीड को नियंत्रित करने के लिए स्वयं मैदान पर उतर गएं और पटरी में लगी स्थाई दुकानों को बंद कराकर भीड को नियंत्रित किया। इस दौरान उन्होंने दुकानदारों को समझाया कि अनावश्यक भीड जमा न करें। जो भी ग्राहक सामग्री लेने आता हैं उससे संपर्क दूरी बनाकर रखें और खासतौर पर मास्क का ध्यान रखना हैं। बिना मास्क लगाएं कोई व्यक्ति सामान खरीदने आता हैं तो उसको सामग्री न दें, बल्कि उसे मास्क के उपयोग की जरूरत के बारे में बताएं। बाजार का पैदल भ्रमण करतें हुए नायब तहसीलदार ने ग्रामीणों को भी समझाइश देते हुए कहा कि छूट का दुरुपयोग नहीं करें। प्रशासन ने आप के हित को ध्यान में रखकर एक दिन की छूट दी ताकि आप आगामी दिनों में लगने वाली रोजमर्रा की सामग्रियों को खरीद कर रख लें। बावजूद इसके आप लोग लापरवाही कर रहें हैं। तहसीलदार ने सख्त हिदायत दी कि गाइडलाइन का कडाई से पालन करें। यदि प्रोटोकॉल का उल्लघंन करतें कोई भी पाया जाएगा तो उस पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

छूट न पड जाएं भारी

उल्लेखनीय हैं कि इस बार कोरोना वायरस के संक्रमण ने ग्रामीण क्षेत्रों को भी अपने चपेट में ले लिया हैं। गोरखपुर में भी लगातार संक्रमितों की संख्या में वृद्धि हो रही है। ऐसे में इस तरह की लापरवाही कहीं भारी न पड जाएं। इस बात पर ध्यान देना बहुत जरूरी हैं, क्योंकि भीड के बीच कौन व्यक्ति कहां से आ रहा हैं कहां जाएगा किसी को जानकारी नहीं है। इस बीच कोई संक्रमित व्यक्ति बाजार आता हैं तो उसके चपेट में कितने लोग आ रहें हैं कौन जानता हैं। फिर यदि संक्रमण फैला तो क्या स्थिति होगी सभी जानते हैं, इसलिए उस स्थिति का सामना करने से पहले सतर्कता जरूरी हैं। हालांकि आज भी ऐसे लोग हैं जो प्रोटोकॉल के प्रति गंभीर नहीं हैं। बहुत से ऐसे लोग भी हैं जिन्हें कोरोना से कोई लेना देना नहीं हैं और ऐसे लोगों से ही संक्रमण के बढने की संभावना हैं। लिहाजा शासन प्रशासन की गाइडलाइन का कडाई से पालन करना ही फिलहाल कोरोना से बचाव का साधन है। शनिवार को कस्बा में छूट के दौरान का जो दृश्य था वो चिंताजनक हैं। यद्यपि शनिवार को छूट की खबर सुन कर उमडी अत्यधिक भीड ने न तो शारीरिक दूरी का पालन करना जरूरी समझा और न ही मास्क लगाना। आधे से ज्यादा लोग इसी तरह बाजार परिसर में घूमते फिरते रहें, जबकि क्षेत्र में इस समय कोरोना संक्रमण की चाल तेज चल रही हैं। इसलिए भीड़ के कारण कोरोना संक्रमण के बढने की संभावना और बढ जाती हैं।

बिना मास्क वालों को पुलिस ने बनाया मुर्गा

शनिवार को चौराहे के नजदीक बनें चेक प्वाइंट पर गाडासरई थाना के एएसआई महादेव प्रसाद नामदेव के साथ प्रधान आरक्षक पप्पू श्याम ने आवाजाही कर रहें लोगों को रोककर पूंछताछ किया और अनावश्यक घूमने वाले लोगों को फटकार लगाई। इस बीच बिना मास्क लगाएं खुली हवा में सांस लेने वाले लोगों को मुर्गा बनाकर सबक सिखाया। इस दौरान गोरखपुर के पटवारी बलीराम भवेदी सहित वनविभाग के कर्मचारी मौजूद रहें।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags