डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में इन दिनों बोवनी का कार्य तेजी से चल रहा है। इन सबके बीच डीएपी, यूरिया की किल्लत से किसानों को जूझना पड रहा है। गुरुवार को जिला मुख्यालय के मंडला बस स्टैंड समीप स्थित विपणन संघ के गोदाम में यूरिया, डीएपी मिलने में आ रही समस्या को लेकर किसानों ने मंडला मार्ग में चका जाम कर दिया। दो सैकडा से अधिक किसान नारेबाजी करते हुए विरोध करने लगे। सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके के साथ कृषि विभाग के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। कांग्रेस जिला अध्यक्ष बीरेंद्र बिहारी शुक्ला ने भी मौके पर पहुंचकर किसानों के समर्थन में अधिकारियों से चर्चा की। बताया गया कि किसान यूरिया, डीएपी खाद ऑनलाइन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद मिलने का विरोध कर रहे थे।

ऑनलाइन प्रक्रिया में लगता अधिक समय

किसानों का आरोप था कि ऑनलाइन प्रक्रिया से समय अधिक लगता है और परेशानी भी अधिक होती है। सभी किसान आधार कार्ड दिखाकर ही खाद देने की मांग कर रहे थे। विरोध बढता देख आनन-फानन में वैकल्पिक तौर पर जब ऑफलाइन खाद देने की व्यवस्था शुरू की गई, तब किसानों का प्रदर्शन शांत हुआ। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि ऊपर से ही ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही खाद देने के निर्देश है। आगामी दिनों में इसी प्रक्रिया के तहत खाद दिया जाएगा। प्रदर्शन के दिन ऑफलाइन की वैकल्पिक व्यवस्था की गई थी।

दो दिन पहले भी कुछ ऐसी ही स्थिति बनी थी।

दो दिन पहले भी किसानों को खाद न मिलने से मंडला मार्ग में चका जाम करना पडा था। तब समझाइश देकर किसानों का प्रदर्शन शांत करा दिया गया था। गुरुवार को भी ऐसी ही स्थिति बन गई। मौके पर कोतवाली प्रभारी सहित अन्य पुलिस बल भी पहुंचा। किसानों को समझाइश दी गई। ऑफलाइन खाद मिलने का आश्वासन मिलने के बाद ही किसानों का प्रदर्शन लगभग एक घंटे बाद शांत हुआ। किसानों ने पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध कराने की मांग कर रहे हैं। चकाजाम के चलते वाहनों का दोनों का जमावडा भी लग गया था। गौरतलब है कि इस बार मानसून ने समय पर ही दस्तक दे दी है। अच्छी बारिश जिले भर में हो चुकी है। ऐसे में बोवनी का कार्य तेजी से शुरू हो रहा है। खाद और बीज की आवश्यकता बढत गई है।पर्याप्त मात्रा में डीएपी की उपलब्धता न होने से भी समस्या आ रही है। कृषि बीज विक्रय करने वाले लोग मनमानी कर रहे है। इन पर नकेल कसने की मांग भी की जा रही है।

वर्जन.............

जिले में किसान खाद व बीज के लिए भटक रहे है। किसानों के बोनी का समय आ चुका है, लेकिन किसान अपने खेतों को छोडकर अपने परिवार के साथ दिन भर खाद और बीज खरीदी के लिए मशक्कत कर रहे है। किसान धरना प्रदर्शन चक्का जाम कर रहे हैं, लेकिन किसानों की सुध लेने वाला कोई नहीं। गुरुवार को किसान खाद के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। मैं स्वयं और युवक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शिवराज सिंह ठाकुर ने प्रदर्शन स्थल पहुंच किसानों के समर्थन में आवाज उठाई। अधिकारियों से किसानों की समस्याओं को शीघ्र समाधान करने चर्चा की।

वीरेन्द्र बिहारी शुक्ला

अध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी डिंडौरी।

जिले में यूरिया की कोई कमी नहीं है। थोडी समस्या डीएपी की जरूर है। मंडला बस स्टैंड पास स्थित गोदाम में जो किसान विरोध कर रहे थे, वे सभी ऑफलाइन खाद देने की मांग कर रहे थे, जबकि ऊपर से ही निर्देश हैं सभी को ऑनलाइन ही फीड करके यूरिया, डीएपी देना है। वैकल्पिक तौर पर प्रदर्शन के दिन तो ऑफलाइन देने की व्यवस्था कर दी गई, उसके बाद प्रदर्शनकारी मान गए, लेकिन आगामी दिनों में ऑनलाइन ही खाद विक्रय करना है। ऑनलाइन के लिए किसानों को ऋ ण पुस्तिका और आधार कार्ड लाना अनिवार्य होता है।

अश्वनी झारिया

उप संचालक कृषि डिंडौरी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags