डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आदिवासी बहुल जिले डिंडौरी के युवाओं को बड़ी संख्या में सेना में भर्ती कराने की पहल की जा रही है। विगत 5 वर्षो से भारतीय सेना में युवाओं का पंजीयन बहुत कम हो रहा था। कलेक्टर रत्नाकर झा ने पहल करते हुए जिले में ही भर्ती कराने की व्यवस्था की है। कर्नल विकास शर्मा निर्देशक भर्ती कार्यालय मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ की उपस्थिति में गत दिवस कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिले में समस्त संकुल प्राचार्य, विकासखंड शिक्षा अधिकारी व पीटीआई की बैठक आयोजित की गई। भारतीय सेना भर्ती रैली संभावित माह जनवरी- फरवरी 2022 में आयोजन के संबंध में मैदान व अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं पर चर्चा करने के साथ निरीक्षण किया गया।

कमियां दूर करने के निर्देश

बैठक में युवाओं को भर्ती से संबंधित शारीरिक व मैदानी परीक्षण में होने वाली कमियों को दूर करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। कलेक्टर द्वारा सभी प्राचार्यो, विकासखंड शिक्षा अधिकारी व पीटीआई को निर्देशित किया गया कि भर्ती के पूर्व जिले के अधिक से अधिक युवाओं का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर विकासखंडवार उनका शारीरिक परीक्षण, अभ्यास इत्यादि कराना सुनिश्चित करेंगे, जिससे जिले से अधिक से अधिक युवाओं को भरतीय सेना में भर्ती होने अवसर प्राप्त हो सके।

चयनित विद्यार्थियों को कोचिंग कराने के निर्देश

बैठक में पुलिस अधीक्षक अमित सिंह, जिला पंचायत सीईओ अंजू विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर अरूण विश्वकर्मा, रोजगार अधिकारी सुषमा विश्वकर्मा, सहायक आयुक्त डॉ. संतोष शुक्ला सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। कलेक्टर ने एकलव्य आदर्श आवासीय स्कूल डिंडौरी के तीन विद्यार्थी ललिता मरावी, तिलकराम परस्ते व मनीष मरावी का जेईई मेंस में चयन होने पर तीनों को जेईई एडवांस की तैयारी के लिए किताबों व कोचिंग की व्यवस्था किए जाने के लिए कहा गया है। कलेक्टर ने तीनों विद्यार्थी को पुष्पगुच्छ देकर शुभकामनाएं दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local