ठेकेदार पर लग रहे गुणवत्ता को ताक में रखने के आरोप

डिंडौरी गाड़ासरई (नईदुनिया न्यूज)। मध्यप्रदेश सरकार अनाज के रखरखाव के लिए करोडों रुपए की लागत से भवन स्वीकृति करता है, लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते सरकारी भवन ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाते। ऐसा ही मामला बजाग जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत सुनपुरी में सामने आया हैं। लाखों की लागत से स्वीकृत वेयरहाउस का निर्माण ठेकेदार द्वारा गुणवत्ता को ताक में रखकर किया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि वेयर हाउस का निर्माण ठेकेदार द्वारा अपनी मनमर्जी से करवाया जा रहा है। यहां विभाग के जिम्मेदार अमले की गैर मौजूदगी में निर्माण कार्य किया जा रहा है।

ठेकेदार पर मनमानी का आरोप :

आरोप है कि ठेकेदार राम मिलन राठौर द्वारा मनमानी की जा रही है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश राज्य सरकारी विपणन संघ द्वारा 72 लाख की लागत से वेयरहाउस का निर्माण होना हैं, जिसमें बहुत सी अनियमितताएं हैं। वेयरहाउस निर्माण में काली और मिट्टी मिली रेत से कार्य किया गया है। साथ ही खराब ईंटो का प्रयोग का आरोप भी ग्रामीणों ने लगाया है। विभाग के इंजीनियर की गैर मौजूदगी में जिस प्रकार से निर्माण कार्य किया जा रहा है, उससे उक्त भवन के निर्माण पर प्रश्न चिन्ह लग रहे हैं। सवाल यह उठता है कि भवन के शुरुआत में ही यह हाल है तो निर्माण की प्रगति में मजबूती कैसी होगी। उदासीनता के कारण ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण करवाया जा रहा है।

जांच कराने की बात कह रहे तहसीलदार :

उपयंत्री की गैर मौजूदगी के कारण कोई तकनीकी सलाहकार नहीं है। यदि समय समय पर विभागीय कर्मचारी द्वारा भवन निर्माण की जांच की जाती तो गुणवत्ता पूर्वक निर्माण हो पाता। इस मामले में तहसीलदार बजाग द्वारा जांच कराने की बात कही गई है। इस मामले में ठेकेदार पर धमकाने के भी आरोप लग रहे है, जिसका एक ऑडियो भी वायरल हो रहा है। ग्रामीणों ने इस मामले में कलेक्टर से कार्रवाई की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local