डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

जिले के डिंडौरी वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम बासीदेवरी में हाथियों के झुंड ने दो घरों को क्षतिग्रस्त करने के साथ 45 वर्षीय महिला को रौंद दिया। घटना स्थल पर ही महिला की मौत हो गई। बताया गया कि दो दिन से तीन हाथियों का झुंड इसी क्षेत्र के जंगलों में डेरा जमाए हुए है। एसडीओ वन एके शर्मा ने बताया कि मंगलवार को दिन भर हाथी जंगल में विश्राम करते रहे। शाम को उनका मूवमेंट ग्राम गोपालपुर की ओर हुआ है। बताया गया कि हाथियों ने मंगलवार की सुबह लगभग चार बजे घर के अंदर सो रही कमलावती पति प्रताप दास धारवे 45 वर्ष को कुचल दिया। महिला के पति प्रताप ने मौके से भाग कर किसी तरह अपनी जान बचाई।

घर में रखा अनाज खाया : हाथियों ने घर में रखा अनाज खाने के साथ घरों को भी क्षतिग्रस्त किया है। पटवारी द्वारा नुकसान का आकलन कर प्रतिवेदन बनाया गया है। गांव में हाथियों के आमद से दहशत का माहौल देखा जा रहा है। सुबह से ही वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। दिनभर हाथियों के मूवमेंट पर नजर रखी गई। गौरतलब है कि सोमवार की दोपहर जोहिला नदी पार करके अनूपपुर जिले से एक बधो के साथ दो वयस्क जंगली हाथी वन परीक्षेत्र डिंडौरी के कक्ष क्रमांक 220 बसनिया के जंगल में दाखिल हुए थे। सोमवार मंगलवार की रात हाथी कक्ष क्रमांक 226 बासी देवरी बसाहट में घुस गए और भोजन के लिए दो घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। जंगली हाथियों के उत्पात से दहशत में ग्रामीणों ने मंगलवार की सुबह वन अमले को गांव में घुसने से रोक दिया और जमकर नाराजगी जताई। शाहपुर पुलिस ने मृतका का शव को लाकर पोस्ट मार्टम कराया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close