डिंडौरी, नईदुनिया प्रति‍निधि । जिले के करंजिया, बजाग जनपद क्षेत्र में गुरुवार को झमाझम वर्षा से नदी नाले उफान पर आ गए है। गोपालपुर के पास सिवनी नदी का जलस्तर बढ़ गया है। बाढ़ से झनकी, गोपालपुर मार्ग बंद होने से दर्जनों गांव का संपर्क टूट गया है। रक्षाबंधन पर्व में बहनों के घर पहुंचने के लिए भाई परेशान है। नदी के तट पर मायूस खडे़ भाई बाढ उतरने का इंतजार करते दिखाई दिए। झनकी से सढवा मार्ग भी बंद है। बताया गया कि दोपहर 12 बजे से झनकी से गोपालपुर मार्ग में सिवनी नदी पुल में पानी आ जाने से इस मार्ग पर यातायात बंद हो गया। शाम तक इस मार्ग पर यातायात बहाल नहीं हो सका।

जिले में अब तक 500 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज

जिले में एक जून से 11 अगस्त तक कुल 500.6 मिलीमीटर औसत बारिश दर्ज की गई है। जबकि पिछले वर्ष इस अवधि में 695.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई थी। सबसे अधिक बारिश विकासखंड करंजिया में 587.1 मिलीमीटर दर्ज की गई है और सबसे कम बारिश विकासखंड मेहंदवानी में 370.1मिलीमीटर हुई है। इसी तरह विकासखंड डिंडौरी में 574.2, अमरपुर में 463.2, समनापुर में 413.8, बजाग में 543.8 व शहपुरा में 552.1 वर्षा दर्ज की गई है। 11 अगस्त तक जिले की कुल वर्षा 3504.3 व औसत वर्षा 500.6 मिलीमीटर दर्ज हुई है।

रसायनिक छोड़ जैविक खेती कर रहे किसान

डिंडौरी । जिले के जनपद करंजिया अंतर्गत किसान जैविक खेती अपना रहे हैं। ग्राम बुंदेला और जाड़ासुरंग की महिला किसान जैविक खेती कर रही हैं। बताया गया कि जैविक खेती को बढ़ावा देते हुए मटका खाद बनाने का कार्यक्रम कर अन्य किसानों को भी जागरूक किया गया। बुंदेला गांव के 150 किसान अपने एक एकड़ में रासायनिक खाद न डाल के जैविक मटका खाद डालने की निर्णय लिया है। इसी तरह ग्राम जाड़ासरंग में 100 किसान तैयार हुए। रासायनिक खाद डालने से होने वाले नुकसान जैसे की मिट्टी कड़क हो जाना, केंचुआ की संख्या कम हो जाना, जमीन में हितकारी जीवाणु की संख्या घट जाने के बारे में अन्य किसानों को बताया गया। बताया गया कि रासायनिक फसल के सेवन से इंसानों की शरीर में बीमारियों बढ जाती हैं। कार्यक्रम में सरपंच, गांव के महिला, पुरुष और प्रदान संस्था के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close