विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान अनुपस्थित रहने पर की गई कार्रवाई

कृषि विभाग के सभी एडीओ के कार्य में लापरवाही पर भी कार्रवाई

फोटो-16-बैठक के दौरान मौजूद विभागीय अधिकारियों को फटकार लगाते कलेक्टर

डिंडौरी नईदुनिया प्रतिनिधि

मंगलवार को कलेक्टर न्यायालय में हुई समीक्षा बैठक के दौरान अनुपस्थित रहने और लगातार लापरवाही बरतने के आरोप में कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने वीईओ पशु चिकित्सा विभाग डॉ. एम मसूंरी को निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। बताया गया कि इसके पूर्व पशु चिकित्सा सेवा कार्यालय करंजिया के निरीक्षण के दौरान भी डॉ. मंसूरी अनुपस्थित पाए गए थे। कलेक्टर ने डॉ. मंसूरी द्वारा विभागीय कार्यों में की जा रही लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए उन्हें निलंबित करने को कहा है। कलेक्टर ने मत्स्य, कृषि,उद्यानिकी व पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग की समीक्षा बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।

किसानों से संपर्क करे कृषि अमला

कलेक्टर ने कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों के द्वारा विभागीय कार्यों व योजनाओं का प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन नहीं करने पर उनका भी सात दिवस का वेतन काटने को कहा है। उन्होंने कहा कि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए उन्हें आधुनिक पद्धति से खेती करने की सलाह दी जाए। शासन द्वारा संचालित योजनाओं से किसानों को लगातार लाभांवित किया जाए। कलेक्टर ने कहा कि कृषि विभाग का अमला नियमित रूप से किसानों के खेतों तक संपर्क करें। किसानों को समय पर खाद, बीज, कृषि उपकरण उपलब्ध कराए।

खाद बीज की दुकान के जांच के निर्देश

कलेक्टर ने बैठक में जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना की प्रगति व किसान पंजीयन की स्थिति के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग का अमला किसानों के द्वारा खेती करने की पद्धति का नियमित रूप से परीक्षण करें। कलेक्टर ने किसानों को खाद, बीज उपलब्ध कराने वाली दुकानों से सेंपल लेकर परीक्षण करने के भी निर्देश दिए। गौरतलब है कि जिले में घटिया स्तर के खाद बीज मिलने के भी मामले सामने आते रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local