डिंडौरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टे्रट सभाकक्ष में मंगलवार को समय-सीमा की बैठक हुई। बैठक के दौरान कलेक्टर रत्नाकर झा ने कहा कि सभी कार्यालयों में बिजली का न्यूनतम उपयोग कर बिजली की बचत करें। कार्यालयों में बिजली का सीमित उपयोग करने से राजस्व की बचत होगी। उन्होने सभी कार्यालय प्रमुखों को कार्यालय में लाइट चालू, बंद करने के लिए रोस्टरवार ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए, जिससे कार्यालयों में विद्युत व्यवस्था का सुचारू रूप से संचालन हो सके।

रेत माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करें : कलेक्टर ने रेत माफियाओं के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि बिना अनुज्ञा पत्र के रेत परिवहन नहीं किया जा सकेगा। विभागीय अधिकारी रेत परिवहन वाहनों की कडाई से जांच करें। अवैध परिवहन करने वाले वाहनों पर कार्रवाई करें। कलेक्टर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत भवन निर्माण के लिए रेत परिवहन को रियायत देने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने बिरसा मुंडा स्टेडियम डिंडौरी के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने स्टेडियम के चारों ओर पौधरोपण करने के निर्देश दिए। एमपीईबी को स्टेडियम में विद्युत कनेक्शन, पीएचई को पेयजल प्रबंध और नगर पालिका को साफ-सफाई करने को कहा।

मरीजों को गर्म कपड़े उपलब्ध कराएं : कलेक्टर ने जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों को गर्म कपड़े उपलब्ध करने के निर्देश दिए हैं। राजस्व अधिकारी स्वास्थ्य केंद्रों में जाकर गर्म कपड़े की उपलब्धता का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीजों को गर्म कपड़े उपलब्ध कराने में लापरवाही बरतने पर कडी कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति परिवार की मुखिया महिला को आहार अनुदान योजना से लाभांवित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि आहार अनुदान योजना से कोई भी परिवार वंचित नहीं रहना चाहिए। सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग इस संबंध में सर्वे कर सभी विशेष पिछड़ी जनजाति परिवार की मुखिया महिला को लाभांवित करेंगे।

कार्यालयों में अग्निशामक यंत्र रखें : कलेक्टर ने अग्नि दुर्घटना से बचने के लिए सभी कार्यालयों में अग्निशामक यंत्र रखने के निर्देश दिए हैं, जिससे अग्नि दुर्घटना होने पर कार्यालय की सुरक्षा की जा सके। सभी कार्यालय प्रमुखों को अग्निशामक यंत्र रखने की सूचना से अवगत कराना होगा। कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा कर सभी शिकायतों का निराकरण संतुष्टिपूर्वक दर्ज करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण लेवल-1 और लेवल-2 पर ही हो जाना चाहिए। सभी विभागीय अधिकारी सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की नियमित रूप से मॉनीटरिंग करें। शिकायतकर्ताओं से लगातार संपर्क कर उनकी समस्याओं का निराकरण करें। इस अवसर पर अपर कलेक्टर अरूण कुमार विश्वकर्मा, सीईओ जिला पंचायत अंजू अरूण कुमार, एसडीएम डिंडौरी रजनी वर्मा, एसडीएम शहपुरा काजल जावला, सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग डॉ. संतोष शुक्ला, सीएमएचओ डॉ. रमेश कुमार मरावी सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local