-भाभी शमिता बाई ने कहा- आरोपित देवर नाैशाद ने घर पर तोड़ा था दम

Attack on Guna Police: गुना, नवदुनिया प्रतिनिधि। शहरोक के समीप मौनवाड़ा के जंगल में पुलिस और शिकारियों के साथ हुई मुठभेड़ के बाद आरोपित रात में अपने गांव बिदौरिया भाग खडे़ हुए। शिकारी नाैशाद को इस घटना में गोली लगी थी, जिसे एक मोटरसाइकिल पर लेकर बिदौरिया उसके घर लेकर जब पहुंचे, तब उसकी सांसे चल रही थीं, लेकिन घर पहुंचने के बाद जमीन पर जैसे ही उसे लिटाया, तो उसने दम तोड़ दिया। उधर, घर की महिलाओं का कहना था कि मृतक नाैशाद की भतीजी का शनिवार को निकाह था। बरातियों की आवभगत के लिए सात-आठ लोग मोटरसाइकिल पर सवार होकर काले हिरण और मोर का शिकार करने के लिए गए थे। हालांकि, नाैशाद की माैत के बाद उसके शव को दफनाने की तैयारी चल रही थी, तभी पुलिस ने दबिश देकर माैके पर ही शव को बरामद कर लिया।

बिदौरिया गांव में शनिवार की दोपहर एक बजे जिलेभर के थाना प्रभारी और भारी पुलिस बल के साथ जिला प्रशासन के अधिकारी माैजूद थे। इसकी कमान एडीएम विवेक रघुवंशी और एडीशनल एसपी संभाल रहे थे। उधर, नाैशाद के घर के बाहर कैंट टीआइ विनोद छाबई पुलिस बल के साथ निगरानी कर रहे थे। वहीं दूसरे शिकारी बबलू और गुल्लू के घर के बाहर राघाैगढ़ टीआइ अवनीत शर्मा पुलिस बल के साथ माैजूद थे। उधर, मृतक नाैशाद के घर में एक भी पुरुष माैजूद नहीं था।

अर्शी के हाथों में सजी मेंहदी, शरीर से लगी थी हल्दी, घर का सामान मैदान में रखने में जुटी: शिकारी बदमाश मृतक की भतीजी अर्शी का शनिवार की दोपहर निकाह पढ़ा जाना था। अर्शी अपने मेंहदी लगे हाथों से घर का सामान उठाकर खुले मैदान में रख रही थी, क्योंकि जिला और पुलिस प्रशासन शिकारी मृतक का घर तोड़ने की तैयारी कर रहा था। अर्शी का कहना था कि उसके चाचा की गलती की सजा मुझे मिली है, आज उसका निकाह टल गया।

भाभी ने कहा- रातभर हुए नाच गाने, लेकिन शिकार के शाैक ने ले ली जान: शिकारी शमिता बानो ने कहा कि उसकी बेटी की बरात अशोकनगर जिले के रोरी गांव से आना थी, लेकिन उसका देवर किन रिश्तेदार और गांव के लड़कों के साथ शिकार के लिए निकल गया, जानकारी नहीं थी। हालांकि, घर की महिलाओं ने कहा कि काले हिरण और मोर को मारकर बरात के लिए लजीज खाना तैयार किया जाना था, लेकिन कुछ लोगों का कहना था कि अगर बाजार से ही मीट शिकारी नाैशाद खरीद लेता तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता।

शहजाद, गुल्लू और बबलू फरार, पुलिस की गिरफ्त में दो महिलाएं: शमिता बानो ने बताया कि उसके पति सिराज खान और उसके ससुर को पुलिस पूछताछ के लिए पकड़कर ले गई है, तो शहजाद, गुल्लू और बबलू फरार है। जिसकी वजह से शबा और शबाना को भी पुलिस पूछताछ के लिए अपने साथ थाने पर ले गई है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local