Guna Crime News :गुना(नवदुनिया प्रतिनिधि)। पत्नी के चरित्र संदेह में पति ने लाठी व हंसिए से हत्या कर दी। इतना ही नहीं, खुदको बचाने स्वयं ही थाने पहुंच गया और गांव के ही एक पंडित के लड़के पर हत्या का आरोप लगाकर फंसाने की कोशिश की। लेकिन पुलिस ने 36 घंटे में ही मामले का पर्दाफाश कर आरोपित पति को जेल भिजवा दिया। उक्त वारदात जामनेर थानाक्षेत्र के गोचा आमल्या गांव की है। पुलिस के अनुसार 24 नवंबर की रात जगदीश खंगार निवासी ग्राम गोचा आमल्या ने जामनेर थाना पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी विमलेश बाई की गांव के ही एक पंडित के लड़के द्वारा लाठी व हंसिया से मारपीट कर हत्या कर दी गई है। इस सूचना पर तत्काल थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह चौहान टीम के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना के बाद मर्ग कायम कर जांच में लिया। इस दौरान पत्नी की हत्या में उसके पति जगदीश पर ही संदेह हुआ, तो पुलिस ने स्वजनों के कथन लिए, जिसमें मृतिका के देवर बबलेश खंगार ने बताया कि 24 नवंबर की रात करीब 10 बजे उसके मोबाइल पर बडे भाई जगदीश खंगार का फोन आया। उसने फोन पर बताया कि अपनी पत्नी विमलेश बाई की हत्या कर दी है। तुम घर पर आ जाओ और मुझे बचा लो, फिर वह गांव के सरपंच के साथ भाई जगदीश के घर पर पहुंचे, तो उसकी भाभी विमलेश खून से लथपथ हालत में जमीन पर पडी थी। समीप ही एक खून से सना हंसिया व लाठी पड़ी हुई थी। यह सब देखकर बड़े भाइयों को बुलाने वापस घर आ गया, तब वह अपने अन्य भाइयों के साथ फिर जगदीश के घर पहुंचा, तब तक जगदीश वहां से भाग गया था। उक्त मर्ग की जांच पर आरोपित जगदीश खंगार के विरुद्ध थाना जामनेर में 25 नवंबर को हत्या सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू की। परिणामस्वरुप पुलिस ने घटना के मात्र 36 घंटों के भीतर ही 27 नवंबर की सुबह आरोपित जगदीश पुत्र बंशीलाल खंगार उम्र 52 साल निवासी ग्राम गोचा आमल्या थाना जामनेर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया। इस कार्रवाई में थाना प्रभारी के अलावा एएसआइ महेंद्रसिंह सेंगर, आरक्षक विनीत भारद्वाज, शिवकुमार निगम, शिवराज सिंह, धर्मेंद्र रावत, इंदर बरडे, संजय दोयदा, देवेंद्र कुशवाह एवं जितेंद्र मीणा की भूमिका रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close