नंबर न कट जाए इसलिए खाद की कतार में ही अन्नदाता करने लगा भोजन

गुना। जिले में खाद को लेकर अन्नदाता की परेशानी कम नहीं हुई है। यूरिया के लिए कि सान अलसुबह से कतार में लग रहा है, ताकि खाद मिल जाए। इस बीच कई कि सान ऐसे भी होते हैं, जिनका नंबर आने तक खाद ही खत्म हो जाता है और उन्हें अगले दिन फिर कतार में लगना पड़ता है। ऐसा ही नजारा बुधवार को कलेक्ट्रेट के समीप एमपी एग्रो के दफ्तर में दिखाई दिया। यहां खेजरा गांव का कृषक हेमंत सुबह 5 बजे खाद के लिए कतार में लग चुका था। दोपहर के 12 बजने तक भी नंबर नहीं आया, तो भूख लगने लगी। इस बीच उनका भाई खाना लेकर आ गया। लेकि न खाद की जरुरत में लाइन छोड़कर भोजन करने की भी हिम्मत नहीं जुटा पाया और कतार में लगकर ही खाना खाने लगा।

फोटो-

0412जीएन-02, गुना। कलेक्ट्रेट के समीप एमपी एग्रो के दफ्तर में खाद के लिए लाइन में लगा कि सान नंबर न कट जाए इसलिए कतार में लगकर ही भोजन करता हुआ।

Posted By: Nai Dunia News Network