मंडी ने ही निर्माण की अनुमति दी, फिर काटी पांच हजार दंड की रसीद

- पुरानी गल्ला मंडी के व्यापारियों के साथ मंडी प्रशासन

गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

मंडी समिति ने पुरानी गल्ला मंडी में व्यापारी को निर्माण की अनुमति दी, तो व्यापारी द्वारा निर्माण करा लिया। लेकि न पांच दिन पहले मंडी द्वारा ही दंड स्वरुप पांच हजार रुपए की रसीद काट दी गई। अब सवाल उठता है कि जिस काम की अनुमति दी जा चुकी हो, तो उसी पर दंड की कार्‌रवाई क्यों की गई। जबकि व्यापारी के पास जमीन की लीज, रजिस्ट्री और निर्माण की अनुमति से जुड़े सभी दस्तावेज मौजूद हैं।

इन दिनों पुरानी गल्ला मंडी के व्यापारियों की परेशानी बढ़ी हुई हैं। क्योंकि , शहर में स्वच्छता के लिए मिशन-10 चलाया जा रहा है। लेकि न मंडी कमेटी द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह कर बेवजह परेशान कि या जा रहा है। ऐसा ही मामला 29 नवंबर को सामने आया। जब स्वच्छता अभियान के तहत प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मंडी अधिकारी टीम के साथ पहुंचे। इस दौरान साफ-सफाई की गई, तो अतिक्रमण भी हटाया गया। लेकि न मंडी समिति ने मिलन ट्रेडिंग कंपनी की अलका पत्नी अशोक जैन को यह कहते हुए कि अनाधिकृत रुप से निर्माण कार्य व शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का दंड लगाकर पांच हजार रुपए की रसीद काट दी। जबकि व्यापारी ने बताया कि उक्त निर्माण कार्य की अनुमति 14 जनवरी को खुद मंडी कमेटी द्वारा दी गई है। इसके बाद भी दंड लगा दिया गया। बुधवार को भी व्यापारी के संस्थान पर मंडी समिति के कर्मचारी पहुंचे और 100 रुपए की रसीद काटी। इसकी वजह उक्त राशि से मंडी में सफाई कराना बताया गया है।

फोटो-

0412जीएन-09, गुना। पुरानी गल्ला मंडी में बुधवार को दुकानदार की 100 रुपए की रसीद काटते मंडी कर्मचारी।

0412जीएन-19, गुना। व्यापारी की काटी गई पांच हजार रुपए की रसीद।

0412जीएन-20, गुना। पुरानी गल्ला मंडी में निर्माण कार्य की मंडी समिति द्वारा दी गई अनुमति।

Posted By: Nai Dunia News Network