- आरोन तहसील मुख्यालय से 12 किमी दूर विराजी हैं सालय वाली माता

गुना/आरोन। नवदुनिया प्रतिनिधि

आरोन तहसील के सालय गांव में माता का मंदिर है, जहां माता विराजी हैं। ऐसा बताया जाता है कि सालय वाली माता दिन में तीन स्वरूप बदलती हैं, जिसमें सुबह बाल, दोपहर में युवा और शाम को वृद्ध स्वरूप में दर्शन देती हैं। यहां वर्ष में एक बार श्रावण मास की हरियाली अमावस्या को मेला लगता है, जहां दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं। यूं तो माता के दरबार में हर मुराद पूरी होती है, लेकिन कहा जाता है कि बच्चे की कामना लेकर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को निराशा नहीं मिलती है।

जिला मुख्यालय से करीब 47 किमी दूर आरोन तहसील में सालय गांव है। माता की सेवा और पूजा-अर्चना करता आ रहा गोस्वामी परिवार की पांचवी पीढ़ी के विद्यागिरी गोस्वामी बताते हैं कि पूर्वजों से सुना है कि लगभग 300 साल पहले माता ने सपने में दर्शन दिए थे। साथ ही कहा था कि सोनेरा गांव के पास तरावलीखेड़ा गांव से सालय आना है। इस पर पूर्वज तरावलीखेड़ा पहुंचे, जहां नदी के पास धरती से माता की प्रतिमा निकली। इसके बाद प्रतिमा को डोला में बैठाकर सालय लाए। इसके बाद राघौगढ़ राज परिवार ने माता के लिए मढ़िया बनाई थी, जहां माता को विराजमान किया। वर्तमान में सालय वाली माता के नाम से ही जानी जाती हैं। नवरात्र के मौके पर भार्गव परिवार माता की पूजा-अर्चना करता आ रहा है। यहां भी अब पांचवी पीढ़ी पूजा कर रही है, जिसमें पहले दुर्गाप्रसाद भार्गव, नारायण प्रसाद भार्गव, दामोदर प्रसाद भार्गव, देवीदत्त भार्गव के बाद आशु भार्गव नवरात्र में पूजन-अर्चन कर रहे हैं।

माता का सोनेरा गांव है मायका

ऐसी भी मान्यता है कि सालय वाली माता का सोनेरा गांव मायका है। उक्त गांव में जब भी किसी के घर में शादी-विवाह का आयोजन होता है, तो माता को सालय आकर मंडप पहनाया जाता है। यह परंपरा भी अनवरत जारी है।

फोटो-

1810जीएन-12, आरोन। तहसील मुख्यालय से 10-12 किमी दूर सालय गांव में विराजी माता।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020