गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

दिव्यांग विक्रम सिंह गुना से अपनी पत्नी का इलाज कराकर तीन पहिया बाइक पर सवार होकर सगोरिया गांव लौट रहा था। इसी बीच अंडरब्रिज के नीचे पानी भरा देखकर उसने रेलवे ट्रेक से बाइक निकालनी चाही, तभी उसकी बाइक ट्रेक में फंस गई। सामने से आ रही ट्रेन को देखकर पत्नी ने अपने दिव्यांग पति को बाइक से उतारकर जान बचाई, लेकिन बाइक के ऊपर इंजन चढ़ गया। उधर, शनिवार की सुबह म्याना से आधा किमी दूर एक बालक की भी ट्रेन के इंजन से कटने की वजह से मौत हो गई। ग्रामीणों ने रेलवे प्रशासन से शिकायत की है कि सगोरिया अंडर ब्रिज के नीचे पानी भरा हुआ है, जिसकी वजह से लोग रेलवे ट्रेक के ऊपर से वाहन निकालते है, जिसकी वजह से आए दिन हादसे होते है। सगोरिया निवासी दिव्यांग विक्रम सिंह धाकड़ अपनी बीमार पत्नी की इलाज कराकर बीते रोज दोपहर 2 बजे गुना से लौट रहे थे, तभी रेलवे ट्रेक में उनका तीन पहिया वाहन फस गया। सबसे अहम बात तो यह है कि तेज रफ्तार से आ रहा ट्रेन का इंजन देखकर दिव्याग की पत्नी चीख पड़ी। उसने हिम्मत दिखाते हुए दिव्यांग को बाइक से उतारकर जान बचाई, लेकिन दिव्यांग का कहना है कि मेहनत की कमाई से उसने बाइक खरीदी थी, लेकिन उसकी बाइक इंजन के नीचे आने पूरी तरह से टूट गई है।

खेत में जानवरों की हकाई कर रहा था बालक

सिंगारपुर निवासी शिवचरण पुत्र राजेंद्र (13) खेत की रखवाली कर रहा था। इस दौरान खेत में जानवर घुस गए। वह जानवरों की हकाई करते हुए रेलवे ट्रेक तक पहुंच गया। सामने से आ रहे इंजन को वह देख नहीं सका, इंजन की चपेट में आकर उसकी मौत हो गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local