गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

जिले में शुक्रवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। इस दौरान घरों और मंदिरों में पूजन-अर्चन और भक्ति संगीत के कार्यक्रम हुए। मंदिरों में आकर्षक साज-सज्जा की गई। वहीं शहर में यादव समाज की अगुवाई में चल समारोह निकाला गया। वहीं रात में उत्साह के साथ भगवान श्रीकृष्ण का जन्म उत्सव मना। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व परंपरानुसार मनाया गया। इस दौरान शुक्रवार की दोपहर गायत्री मंदिर से चल समारोह शुरू हुआ, जो हनुमान चौराहा, हाटरोड, सदर बाजार, निचला बाजार, जयस्तंभ चौराहा, मानस भवन होते हुए लक्ष्‌मीगंज स्थित सभास्थल पहुंचा। यहां यादव समाज के गौरव और राष्ट्रीय संत कोकिलजी महाराज का प्रेरणादायी मार्गदर्शन समाजजनों को मिला। यहां जिला पंचायत अध्यक्ष अरविंद धाकड़, शिवपुरी जिपं ध्यक्ष नेहा यादव, कार्यक्रम संयोजक हरिसिंह यादव, हरवीरसिंह यादव, सरदारसिंह यादव, घूमनसिंह यादव, सीमा यादव, शोभा यादव, संतोषसिंह यादव, सर्जनसिंह यादव, वीरबहादुर सिंह यादव आदि ने संबोधित किया। इससे पहले चल समारोह में जिपं अध्यक्ष अरविंद धाकड़ शामिल हुए, जिन्होंने भगवान श्रीकृष्ण के रथ को खींचा। कार्यक्रम स्थल पर जिपं अध्यक्ष ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण के अग्रज भ्राता बलराम धाकड़-किरार समाज के आराध्य हैं। दोनों भाइयों में स्नेह था, जो एक-दूसरे के प्रति स्नेह व समर्पण का असाधारण उदाहरण है। इसी परंपरा का अनुसरण करते हुए यादव-धाकड़ समाज को भी आपस में भाई-भाई की तरह रहना चाहिए। एक-दूसरे का सहयोग करना चाहिए। उन्होंने मंच से आह्वान किया कि दोनों ही समाज एक-दूसरे के उत्थान के लिए निस्वार्थ भाव से प्रयास करें। वहीं उप्र से आई संगीत मंडली ने भजनों की प्रस्तुति दी। इससे पहले ठाकुरजी का पालन झुलाकर आरती की गई। वहीं नयापुरा गोपाल मंदिर पर आकर्षक साज-सज्जा की गई और रात 12 बजे श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close