गुना (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जनपद पंचायत बमोरी की ख्यावदा पंचायत के ग्राम कंचनपुरा में शुक्रवार की दोपहर 12 बजे नायब तहसीलदार भारतेंदु यादव हल्का नंबर-76 में बारिश और ओलावृष्टि से नष्ट फसल का सर्वे करने गए थे। इस दौरान किसान उनका वीडियो बनाने लगे। उन्होंने किसान के हाथ से मोबाइल भी ले लिया। हालांकि, किसानों द्वारा बनाए जा रहे वीडियो को लेकर नायब तहसीलदार गुस्से में आ गए। उन्होंने अशोभनीय भाषा का प्रयोग करते हुए कहा कि फसल ही नहीं, डंठल खा लिए या उड़ गए। खेत में कोई फसल नहीं बोई गई थी, तो कोई मुआवजा भी नहीं मिलेगा। गांव के किसानों ने नायब तहसीलदार पर गंभीर आरोप लगाने के बाद वीडियो वाट्सएप ग्रुप पर वायरल किए हैं। उधर, नायब तहसीलदार का कहना है कि तालाब के किनारे किसान का खेत डूब क्षेत्र में आता है। जनसुनवाई में कलेक्टर को आवेदन दिया था। वह मौके पर जांच के लिए गए थे, लेकिन किसान ने कोई फसल नहीं बोई थी। अगर फसल किसान बोते, तो डंठल दिखते। यहां एक व्यक्ति गिर्राज शराब के नशे में अभ्रदता कर रहा था। साथ ही किसानों ने हंगामा करने के बाद पंचनामा पर हस्ताक्षर भी नहीं किए। वहीं कंचनपुरा गांव के किसान निर्भय सिंह लोधा, गिर्राज, रूप सिंह, कृष्णगोपाल लोधा, बुंदेल लोधा, परमानंद, इमरत लाल, श्रीकृष्ण और राकेश लोधा ने कहा कि नायब तहसीलदार भारतेंदु यादव फसल नष्ट होने का सर्वे करने शुक्रवार की दोपहर आए थे। उन्होंने डेढ़ बीघा खेत में सोयाबीन की फसल बोई थी, लेकिन नायब तहसीलदार ने किसानों के साथ अभ्रदता कर गाली-गलौज भी की है। उन्होंने इस संबंध में कलेक्टर फ्रेंक नोबल ए. से लेकर एसडीएम वीरेंद्र सिंह को वीडियो भेजा है, लेकिन नायब तहसीलदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। राकेश लोधा ने कहा कि नायब तहसीलदार ने थाने से पुलिस पकड़ने के लिए भी गांव में भेजी थी।

वीडियो बनाकर किसान बना रहे थे दबाव: नायब तहसीलदार

नायब तहसीलदार ने कहा कि किसान ने फसल नहीं बोई थी। इसके बाद राकेश लोधा और गिर्राज लोधा ने तेज आवाज में बात करनी शुरू कर दी। गिर्राज लोधा शराब के नशे में धुत था। उसके खिलाफ पहले से भी थाने में मामले दर्ज थे। शराब के नशे में गिर्राज ने वीडियो बनाकर सर्वे करने वाली टीम और मेरे ऊपर दबाव बनाने की कोशिश की थी, जिसकी वजह से मैंने उसको डांटकर समझाया था। इन लोगों ने धमकी भी दी।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local