गुना ( नवदुनिया प्रतिनिधि)। केंद्रीय नागरिक एवं उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि आज राघौगढ़ में नया सूर्योदय हुआ है। एक नई शुरूआत, सोच, विचारधारा, उमंग और एक नया पहरेदार हीरेंद्र सिंह मेरे साथ मंच पर खड़ा है। जो आपके परिवार का सदस्य होकर आपके दुख में साथ चला है। इस दौरान श्री सिंधिया ने हीरेंद्र के स्वर्गीय पिता मूलसिंह दादाभाई को भी याद किया। उन्होंने कहा कि मैं आज उस शख्सियत को याद करता हूं, जिनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने का मुझे मौका मिला। दादाभाई जिला पंचायत अध्यक्ष और विधायक बने, लेकिन सदैव आपके और जमीन के साथ जुड़े रहे।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शनिवार दोपहर दिग्विजय सिंह के गढ़ राघौगढ़ में आयोजित सभा में बोल रहे थे। इससे पहले उन्होंने ‘किला’ समर्थक स्व. मूलसिंह दादाभाई के पुत्र व युवा कांग्रेस नेता हीरेंद्र सिंह को भाजपा की सदस्यता दिलाई। इस दौरान हीरेंद्र सिंह के साथ बड़ी संख्या में समर्थकों ने भी भाजपा का दामन थाम लिया। श्री सिंधिया ने कहा कि किसानों को यूरिया खाद की कमी नहीं होने दूंगा, क्योंकि मैं रैक पर रैक भिजवा रहा हूं। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने जनता से एक निवेदन भी किया। उन्होंने कहा कि अगर आप सत्य के साथ, विकास, प्रगति और सशक्त नेतृत्व मोदी के साथ चलना चाहते हैं, तो आपको उठना होगा और भविष्य की नई इबारत लिखने संकल्प लेना होगा। क्योंकि, आज से राघौगढ़ में नए अध्याय की शुरूआत हो चुकी है। इस दौरान श्री सिंधिया ने कहा कि पहले राघौगढ़ से गुना, ग्वालियर, भोपाल, देवास जाने घंटों लगते थे, लेकिन हमने 4000 करोड़ का 400 किमी फोरलेन बनाकर दिया। रेलवे विद्युतीकरण के कार्य का शुभारंभ कर दिया। क्योंकि, मुझे राजनीति से मोह नहीं है, बल्कि सेवा और प्रगति के साथ लगाव है। इससे पहले चांचौड़ा की पूर्व विधायक ममता मीना और भाजपा में शामिल हुए हीरेंद्र सिंह ने भी अपनी बात रखी।

अब आपका घोड़ा दौड़कर राघौगढ़ किले की ओर जाने वाला है

इससे पहले प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्रसिंह सिसोदिया ने कहा कि जिस तरह हमने कमल नाथ सरकार के अन्याय सहकर मजबूरी में कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन की थी। उसी तरह राज परिवार राघौगढ़ के अत्याचार सहकर मजबूरी में हीरेंद्र सिंह ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामा है। उन्होंने कहा कि आपने जिस व्यक्ति को चुना है, उसका सानिध्य और आशीर्वाद मिलने से आपका घोड़ा दौड़ता हुआ राघौगढ़ किले की ओर जाने वाला है। इसके साथ ही सिसोदिया ने दावा किया कि ‘बाबा’ को हर का मुंह देखना सुनिश्चित हो गया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local