गुना। vegetable price in guna शहर में दो दिन के लिए की गई थोक सब्जी और फल विक्रेताओं की हड़ताल खत्म हो चुकी है, इसके बाद भी इनके दाम में कोई कमी नहीं आई है। अब भी हरि सब्जियां दोगुने और उससे अधिक में बाजार में बिक रही हैं। विक्रेताओं का मानना है कि मंडी में कम आवक के कारण सब्जी के दाम बढ़ गए हैं। बहरहाल, इस स्थिति में आमजन को परेशान होना पड़ रहा है।

थोक सब्जी और फल विक्रेताओं को रपटा से हटाकर दशहरा मैदान में शिफ्ट कर दिया गया था। शुरूआत में विक्रेताओं ने इस जगह का विरोध किया और अपनी दुकानें बंद रखकर हड़ताल कर दी, पर इनकी हड़ताल प्रभावी नहीं हो पाई। क्योंकि गांवों से आने वाले किसानों से फुटकर विक्रेताओं ने सीधे सब्जी खरीदना शुरू कर दी थी।

लेकिन इसका असर यह हुआ कि अधिकांश सब्जियों के दाम उछल गए। हालांकि इसके बाद थोक विक्रेताओं ने भी अपनी हड़ताल समाप्त कर दी। लेकिन सब्जी के दामों में अभी कोई कमी नहीं आई है। फुटकर सब्जी विक्रेता रमेश कुशवाह का कहना है कि हड़ताल की वजह से बाहर से सब्जियां आना बंद हो गईं। यह गाड़ियां अभी भी पर्याप्त मात्रा में मंडी नहीं आ रही हैं, जिस कारण सब्जियों के दाम बढ़े हुए हैं।

इस तरह से उछले सब्जियों के भाव

सब्जी-पहले-अब

टमाटर-15-30

बैगन-20-40

भिंडी-20-30

गिलकी-15-20

आलू-15-25

हरी मिर्च-30-40

नोट : सब्जियों के दाम रुपये प्रति किलो ग्राम में हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना