-आरटीओ कार्यालय के बाहर सक्रिय एजेंट सील बाद हो रहे काम

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।कंपू स्थित लाइसेंस व फिटनेस शाखा में एजेंटों के कब्जे आ गया है। इनके सहारे से जो कम करवाए जाते हैं, उसकी गारंटी होती है। ड्राइविंग लाइसेंस एजेंटी की सहायता से बनवाया है तो वह बनना तय है। इसमें टेस्ट की प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ता है। लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस व ड्राइविंग लाइसेंस के आंकड़े यही इशारा कर रहे हैं। पिछले साढ़े आठ महीने में लर्निंग लाइसेंस के लिए 22 हजार 986 लोगों ने आंनलाइन टेस्ट दिया, जिसमें 1176 फेल हो गए, जबकि ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 33 हजार 333 लोगों आवेदन किया, जिसमें गाड़ी चलाने के टेस्ट में 24 फेल हुए। 33 हजार 301 लोगों को लाइसेंस जारी हो गया। एजेंटों के कार्य को लेकर परिवहन आयुक्त एसके झा का कहना है कि अधिकतर व्यवस्थाओं को आनलाइन कर रहे हैं, जिससे ये व्यवस्थाएं खत्म हो जाएंगी। लर्निंग लाइसेंस आनलाइन हो चुका है।

कंपू स्थित लाइसेंस व फिटनेस शाखा में एजेंटों के रैकेट को लेकर नईदुनिया खुलासा किया है। प्रमोद कुशवाह नाम का व्यक्ति कंपू स्थित कार्यालय के एजेंट का कार्य संभालता है। स्थायी लाइसेंस, हेवी लाइसेंस रिन्यूवल, फिटनेस अादि के कार्य इनके माध्यम से हो रहे हैं। इनके माध्यम से जो फार्म गया है, वह काम होना पक्का है। हर कार्य की रिश्वत तय है। फार्म पर पहचान भी अलग है। स्थायी लाइसेंस की 1100 रुपये फीस है। एजेंट को 400 रुपये अतिरिक्त देने पड़ते हैं। लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए 300 रुपये अतिरिक्त देने पड़ते हैं। हेवी लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए एक हजार रुपये अतिरिक्त देने पड़ रहे हैं। फिटनेस के पांच सौ रुपये देने पड़ते हैं। कंपू के कार्यालय में हर एक हजार से अधिक लोग पहुंचते हैं। जिन्हें परिवहन सेवाओं की जरूरत पड़ती है। यहां पर लाइन लगाकर एजेंट बैठे हैं, जो काम कराने की गारंटी लेते हैं।

टेस्ट के लिए ट्रैक नहीं कर सके शुरू

वैसे लाइसेंस व फिटनेस शाखा को सिरोल स्थित कार्यालय में पहुंचना है। क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय तो काफी समय पहले पहुंच चुका है, लेकिन कंपू के कार्यालय को शिफ्ट नहीं किया गया है। यहां पर लोगों के आने के लिए सुविधाएं भी नहीं है। अधिकारी भी नहीं बैठते हैं। बाबुओं के भरोसे कार्यालय है। यदि किसी व्यक्ति कोई शिकायत करना है तो उसे सिरोल ही जाना पड़ेगा। इसके अलावा ड्राइविंग लाइसेंस के लिए बनाया गया ट्रैक शुरू नहीं हो सका। जिससे टेस्ट लिया जा सके।

- यदि कोई एजेंट का सहारा नहीं लेना चाहता है। टेस्ट देना होता है। कार्यालय के बाहर बनी सड़क पर ही गाड़ी चलाकर देखा जाता है।

ड्राइविंग लाइसेंस की स्थिति

लाइसेंस जारी फेल

लर्निंग लाइसेंस 21810 1176

ड्राइविंग लाइसेंस 33301 24

(यह आंकड़ा 1 जनवरी से 23 सितंबर 2022 के बीच का है।)

सीधी बात

एसके झा: आयुक्त परिवहन विभाग

प्र- आरटीओ के बाहर जो एजेंट बैठे हैं, उन पर विभाग कभी कार्रवाई क्यों नहीं करता है।

उ- विभाग की प्रक्रिया को समझ कर उसमें बदलाव किए जा रहे हैं। व्यवस्थाओं को आनलाइन करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। तकनीक में भी सुधार किया जा रहा है। लर्निंग लाइसेंस आनलाइन हो चुका है। खुद ही लोग इसे बना सकते हैं।

प्र- ड्राइविंग लाइसेंस फेल का आंकड़ा बहुत कम है। एजेंटो के माध्यम से बनवा रहे हैं। आरटीओ के हस्ताक्षर भी कर रहे हैं।

उ- वाहन व सारथी-4 पोर्टल के माध्यम से सेवाओं की शुरुवात की है। लाइसेंस की सेवा में बदलाव किया जा रहा है। सुधार होने से बाहरी लोगों का हस्तक्षेप घटेगा। आनलाइन से सुधार भी होगा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close