ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। संक्रमण तीन गुना रफ्तार से बढ़ रहा है। सोमवार को 2446 लोगों की जांच में 25 संक्रमित निकले। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि इतनी संख्या में मरीज जून 2021 में निकले थे। इसके बाद इतनी संख्या में मरीज नहीं पाए गए। छह माह बाद कोरेाना के एक साथ 25 मरीज पाए गए। खास बात यह है कि इनमें अधिकांश मरीज वह हैं जो बाहर से लौटे हैं या फिर बाहर से लौटने वालों के संपर्क में आए हैं।

आठ दिन में 22 गुना बढ़ा संक्रमण: 27 दिसंबर को कोरेाना का एक मरीज पाया गया था। इसके बाद हर दिन मरीज मिलना शुरू हो गए। 29 दिसंबर को 4 मरीज एक साथ निकले थे। एक जनवरी को 6 मरीज, दो जनवरी को 9 और तीन जनवरी को 22 मरीज पाए गए। तीन दिन में कोरोना 4 गुना रफ्तार से बढ़ा वहीं 27 दिसंबर से देखा जाए तो कोरोनी की रफ्तार 22 गुना हुई है।

डाक्टर,मैनेजर, सुपरवाईजर कोरोना की चपेट में

-भिंड रोड पर रहने वाले 41 वर्षीय युवक, उनकी पत्नी व 6 साल की बच्ची जांच में कोरोना संक्रमित पाई गई। असल में यह नीदरलैंड से 16 नवंबर को आए थे और दो दिन बाद इन्हें वापस जाना था।

-विनय नगर निवासी सात साल का बालक संक्रमित निकला, 5 दिन पहले मां के साथ मेरठ से लौटा था।

-जनकगंज डिस्पेंसरी में पदस्थ 63 वर्षीय डाक्टर को बुखार आया जांच कराई तो संक्रमित पाए गए। उनका शहर से बाहर आना-जाना नहीं हुआ।

-मुरार जिला अस्पताल में पदस्थ 39 वर्षीय टीबी सुपरवाइजर को बुखार व गले में खराश थी, जांच में संक्रमित निकले।

-डीबी सिटी में रहने वाले 44 वर्षीय युवक को बुखार व सिर दर्द की शिकायत थी जांच में संक्रमित पाए गए, जबकि बाहर आना जाना नहीं हुआ।

-समाधिया कालोनी निवासी 56 वर्षीय रेलवे अधिकारी ने बुखार आने पर जांच कराई तो संक्रमित निकले। वह 31 दिसंबर को चंडीगढ़ से लौटे थे।

-बलवंत नगर के 47 साल के एनटीपीसी का अधिकारी, उसकी 23 वर्षीय बेटी, 17वर्षीय बेटा 30 दिसंबर को दिल्ली से लौटे थे। सर्दी-जुकाम की शिकायत पर जांच कराई तो संक्रमित निकले।

-शिंदे की छावनी के 57 वर्षीय व्यक्ति संक्रमित पाए गए।

-विनय नगर की 26 वर्षीय युवती दिल्ली की निजी कंपनी में सहायक प्रबंधक है। वह रविवार को ही लौटी थी। तबीयत खराब हुई तो जांच में संक्रमित पाई गई।

-इसके अलावा नौ लोग निजी लैब की जांच में संक्रमित पाए गए।

वर्जन-

कोरोना तेजी से फैल रहा है। टीमों को निर्देश दे दिए गए कि रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड पर प्रभावी ढंग से सैंपलिंग की जाए। इससे बाहर से आने वालों का पहले ही पता चल सके। लोग भी सावधानी रखें और बाजार में भीड़-भाड़ में जाने से बचें। मास्क व शारीरिक दूरी का पालन करें।

डा. मनीष शर्मा, सीएमएचओ

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local