ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कमलाराजा अस्पताल से निकलने वाला मेडिकल वेस्ट कबाड़ी की दुकान पर बेचने के मामले में यूडीएस कंपनी पर जयारोग्य अस्पताल प्रबंधन ने 25000 का जुर्माना ठोक दिया है। इधर यूडीएस कंपनी ने मेडिकल वेस्ट बेचने वाले दोनों कर्मचारियों को नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया हैं। जिसको लेकर गुरुवार को सफाई कर्मियों ने कमलाराजा के बाहर हंगामा भी किया। गौरतलब है कि नईदुनिया ने बुधवार के अंक में जेएएच से निकलने वाला मेडिकल वेस्ट पहुंच रहा कबाड़ी की दुकान पर नामक शीर्षक से खबर का प्रकाशन किया था। जिसको लेकर जयारोग्य अस्पताल समूह ने यह एक्शन लिया है। गौरतलब है कि मंगलवार को कमलाराजा अस्पताल के दो यूडीएस के कर्मचारी खाली ड्रिप बोतल की दो झाल अस्पताल से बाहर कस्तूरबा चौराह पर स्थित कबाड़ की दुकान पर बेचते हुए कैमरे में कैद हुए थे। जिसके बाद नईदुनिया ने इस पर खबर प्रकाशित करते हुए पूरे मामले का खुलासा किया था। इसको लेकर जयारोग्य अस्पताल समूह को कार्रवाई करनी पड़ी।

1200बेड के अस्पताल में हर दिन निकलता एक टन कचरा

जयारोग्य अस्पताल 1200 बेड का है। जिसमें अमूमन इतने ही मरीज भर्ती होकर इलाज लेते हैं। इन मरीजों के इलाज से एक टन मेडिकल वेस्ट प्रतिदिन निकलता है। लेकिन आंतरी स्थित इंसीनेटर पर महज 60 किलो मेडिकल वेस्ट ही पहुंच पाता है। बाकी का प्लास्टिक का मेडिकल वेस्ट अस्पताल के कर्मचारी कबाड़ी को बिना डिइन्फेक्टिड किए ही बेच देते हैं। इस कारण से शहर में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ रहा है।

वर्जन

यूडीएस कंपनी पर जुर्माना लगाया गया है और नोटिस भी जारी किया गया है कि भविष्य में इस तरह का आचरण न हो। मेडिकल वेस्ट को निष्पादन के लिए संबंधित एजेंसी पर ही पहुंचे।

डा आरकेएस धाकड़, अधीक्षक जेएएच

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local