Ganesh Chaturthi 2020 : ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। 22 अगस्त को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी। इस दिन भक्तों द्वारा अपने घरों में गणेशजी को विराजमान कराया जाएगा। इस बार सराफा बाजार में नागर परिवार द्वारा गाय के गोबर की गणेश प्रतिमाएं बनाई जा रही हैं। यह सभी प्रतिमाएं विशुद्ध रूप से जैविक पदार्थों से बनाई जा रही हैं। इसमें गोंद, गाय का गोबर इस्तेमाल किया जा रहा है। वहीं शास्त्रों में बताया गया है कि गाय के गोबर में लक्ष्मीजी का वास होता है। इसलिए मान्यता है कि गोबर के गणेशजी को घर में विराजमान करने से लक्ष्मीजी का वास घर में होता है।

सराफा बाजार में यमुनेश नागर के घर में भगवान श्रीकृष्ण का करीब दो सदी पुराना मंदिर है। घर के अंदर ही देसी गाय भी पली हुई हैं। गाय से मिलने वाले गोबर से इस साल गणेशजी की छोटी-छोटी प्रतिमाएं तैयार की जा रही हैं। यह सभी प्रतिमाएं 6 इंच तक की हैं। मान्यता है कि 6 इंच तक की प्रतिमाओं को घर के अंदर स्थापित किया जा सकता है।

गोबर के गणेश बनाने में लगता है समय

गोबर की गणेश प्रतिमा बनाने में समय काफी लगता है। यमुनेश नागर ने बताया कि पहले गोबर को सूखाकर बारिक पीसा जाता है। इसके बाद उसमें ग्वारगम, गोंद मिलाई जाती है। इसके बाद प्रतिमाओं को आकार दिया जाता है। अगर जरा भी गड़बड़ हो जाए तो सारा सामान खराब हो जाता है। क्योंकि एक बार प्रतिमा बिगड़ जाने के बाद उसे फिर से नहीं बनाया जा सकता।

यह है मान्यता

मान्यता है कि देसी गाय के गोबर में लक्ष्मीजी का वास होता है, साथ ही गाय के गोबर से खाद भी बनती है। गोबर से बनी इन गणेश प्रतिमाओं को हम घर के अंदर किसी गमले आदि में भी विसर्जित कर सकते हैं। इससे गमलों में भी खाद मिलेगी और पर्यावरण भी सुरक्षति रहेगा।

गोबर के गणेशजी को सबसे अधिक शुद्ध माना जाता है। पहले गणेशजी की प्रतिमाओं को माता बहनें अपने घरों में गाय के गोबर से बनाती थीं, लेकिन वर्तमान समय में रेडीमेड कार्य प्रचलन में है। इसलिए लोग पीओपी की प्रतिमाएं लेकर आते हैं। गोबर गणेश से पर्यावरण सुरक्षति रहेगा। साथ ही गोबर का होने के कारण घर में लक्ष्मीजी का भी वास होगा। बृजेश नागर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020