ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। नौकरी दिलाने के बहाने जिस महिला के साथ होटल रमाया के मालिक रामनिवास शर्मा और उसके नौकर अमित मिश्रा ने दुष्कर्म किया, उसने अपने बयान में कहा है- उसके साथ तीन बार हैवानियत की गई। उसे कमरे में बंद करके पहले नौकर अमित ने फिर होटल संचालक रामनिवास शर्मा ने ज्यादती की। इसके बाद रामनिवास भाग गया और नौकर ने दोबारा उसके साथ गलत काम किया। वह रोती रही, गिड़गिड़ाती रही, होटल संचालक रामनिवास और उसका नौकर अमित जान से मारने की धमकी देकर गलत काम करते रहे। पीड़िता के कोर्ट के समक्ष धारा 164 के तहत बयान हो गए, जिसमें उसने पूरी घटना की जानकारी दी। उधर सामूहिक दुष्कर्म का आरोपित रामनिवास फरार हो गया है। पुलिस ने रात में उसके घर, होटल और रिश्तेदारों के घर दबिश दी लेकिन वह हाथ नहीं आया। अब एसएसपी अमित सांघी का कहना है- उस पर इनाम घोषित करने की तैयारी है, जल्द ही उसकी गिरफ्तारी पर इनाम घोषित कर दिया जाएगा। उधर एसएसपी अमित सांघी से ग्वालियर जोन के एडीजी डी.श्रीनिवास वर्मा ने भी घटना के बारे में पूरी जानकारी साथ ही आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।

एएसपी मृगाखी डेका ने बताया कि दुष्कर्म के आरोपी रामनिवास शर्मा की तलाश में लगातार टीमें लगी हुई हैं। जल्द ही उसकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। उसके करीबीयों पर भी निगाह रखी जा रही है।

पीड़िता की आपबीती...

- मैं बड़ागांव इलाके में किराए से रहती हूं, मूल रूप से भिंड की रहने वाली हूं। मेरे पति मेरे साथ रहते हैं, घर की माली हालत ठीक नहीं है, इसलिए काम ढूंढ रही थी। घर के पास ही रामनाथ पाठक भाईसाहब रहते हैं, उनसे मैंने बोला था- मुझे कोई काम दिलवा दें। झाडू पोंछा और देखरेख का काम कर लूंगी, जिससे 4-5 हजार रुपए मिल जाया करेंगे और घर चलाने में मदद होगी। बुधवार को मेरे पास रामनाथ भाईसाहब का फोन आया, उन्होंने कहा- होटल रमाया के मालिक और क्रशर संचालक रामनिवास शर्मा मेरे परिचित हैं। उनके होटल में सफाई और देखरेख का काम करती रहना, उनसे मिलवा देता हूं वह काम पर रख लेंगे। उन्होंने मुझे गांधी रोड पर एसपी बंगला के सामने आने को कहा। मैं वहां पहुंची तो रामनाथ भाईसाहब आ गए। थोड़ी देर बाद 12.47 बजे रामनिवास अपनी सफेद रंग की बोलेरो से आया। रामनिवास ने मुझसे कहा मैं आफिस दिखा देता हूं और रामनाथ भाईसाहब अपने घर चले गए। रामनिवास के घर जाने से पहले मैंने मना किया तो बोला कि विश्वास नहीं है क्या, मैं नौकरी दूंगा। वह खुद ही गाड़ी चला रहा था। वह मुझे बलवंत नगर स्थित मकान नंबर 59 पर पहुंचा, यह मकान वोल्टास सर्विस सेंटर के पास था। यहां मुझे लाया और बोला- यह अमित मिश्रा का कमरा है, वह उसका खास है। रामनिवास ने दरवाजा खुलवाया, मुझे अंदर ले गया। अमित मिश्रा ने अंदर से दरवाजे पर ताला डाल दिया। मैंने बाहर जाने को कहा तो धमकाने लगा, दोनों बोले- हम जैसा कहते हैं वैसा करो नहीं तो मार डालेंगे। मेरे साथ पहले अमित मिश्रा ने हैवानियत की, फिर रामनिवास शर्मा ने मेरे साथ गलत काम किया। रामनिवास कमरे में छोड़कर भाग गया, इसके बाद अमित ने दोबारा मेरे साथ गलत काम किया। जब वह बाथरूम में गया तो मैं वहां से भाग आई। मैं जब भागी तो दोनों का मेरे पास लगातार फोन आता रहा, फोन पर धमकाते रहे कि अगर किसी को कुछ भी बताया तो मार डालेंगे।

- जैसा कि पीड़िता ने एफआइआर कराते समय महिला पुलिस अफसर को बताया

आरोपी नौकर जेल भेजा: होटल संचालक रामनिवास शर्मा के नौकर अमित मिश्रा को पुलिस ने बुधवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। सीएसपी यूनिवर्सिटी रत्नेश सिंह तोमर ने बताया कि आरोपी को गिरफ्तार कर गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उसे जेल भेज दिया गया। नौकर ने रामनिवास शर्मा के साथ मिलकर महिला के साथ दुष्कर्म करने की बात स्वीकार की है।

वर्जन:

होटल रमाया के संचालक रामनिवास शर्मा की तलाश में लगातार दबिश दी जा रही है। उस पर इनाम घोषित करने की भी तैयारी है।

अमित सांघी, एसएसपी, ग्वालियर

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close