ग्वालियर,(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में प्रस्तावित सिटी फारेस्ट योजना को देखने के लिए बुधवार को भोपाल से वन विभाग के एडीशनल पीसीसीएफ ग्वालियर आए। उन्होने यहां सिरोल पहाड़ी पर प्रस्तावित 26 हेक्टेयर के स्थल को देखा और पूरी योजना को जाना। डीएफओ बृजेंद्र श्रीवास्तव ने उन्हें योजना के स्थल का दौरा कराया। सिटी फारेस्ट योजना में अब नगर निगम ही नहीं बल्कि स्मार्ट सिटी सहित प्राइवेट सेक्टर को भी जोड़ा जाएगा। वन विभाग की जमीन पर एनओसी के कारण परेशानी आती है, लेकिन इस प्रोजेक्ट में वन विभाग इसको लेकर राहत देगा। इसमें ऐसा किया जाएगा कि आने वाले लोगों को हरियाली के बीच सभी सुविधाएं भी मिलें और ज्यादा समय यहां बिता सकें। वहीं डीएफओ ने कूनो पालपुर नेशनल पार्क में पोस्टिंग होने के बाद भी ज्वाइन न करने पर चार वन रक्षकों को निलंबित कर दिया।

सिटी फारेस्ट योजना को देखने के लिए भोपाल से एडीशनल पीसीसीएफ एसपी शर्मा ग्वालियर आए। यहां डीएफओ सहित अधिकारियों ने उन्हें भ्रमण कराया। सिटी फारेस्ट योजना के तहत नगर निगम और वन विभाग को मिलकर काम करना है। शारदा बालग्राम से लगी सिरोल पहाड़ी पर सिटी फारेस्ट को तैयार किया जाएगा।

कूनो नहीं किया ज्वाइन,चार निलंबितः वन विभाग ग्वालियर में पदस्थ चार वन रक्षकों को डीएफओ ने निलंबित कर दिया। इनमें अशोक विमल, अजय कदम,रामकुमार यदुवंशी सहित चार शामिल हैं। इन लोगों ने कोर्ट की शरण ली थी और बताया था कि जिला कैडर के होने के कारण इनका तबादला नहीं किया जा सकता। शासन स्तर से यह तबादला हुआ था। इसके बाद वन विभाग ने कोर्ट में बताया कि इनकी पदस्थापना ग्वालियर जिला है लेकिन पोस्टिंग नियमों के तहत ही की जा रही है जिसमें कूनो भेजा जा रहा है। कोर्ट के स्टे के बाद कोर्ट ने वन विभाग के आदेश पालन करने को कहा लेकिन वन रक्षकों ने रिलीव होने के बाद भी कूनो ज्वाइन नहीं किया।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close