जाेगेंद्र सेन, ग्वालियर नईदुनिया। चितौरा रोड पर दो मासूम बच्चियों सहित पांच लोगों को कुचलने के बाद पुलिस की पकड़ में आए लाखन जाटव से पुलिस ने गुरुवार की रात को पूछताछ की। आरोपित चालक का कहना है कि उसे पता नहीं चला कब क्या हो गया। गाड़ी सड़क से उतरकर कच्चे में पहुंच गई। कुछ लोगों के चपेट में आने के बाद उसने पीछे मुड़कर नहीं देखा कि क्या हुआ? क्योंकि उसे डर था कि अगर ग्रामीणों ने पकड़ लिया तो गाड़ी को आग लगाने के साथ उसे मार देंगें। पुलिस आरोपित से चालक से सवाल कर रही है कि दुर्घटना के बाद मुरार व थाटीपुर थाने में क्यों नहीं गया। इस सवाल पर वह चुप्पी साध लेता है।

चितौरा रोड पर विक्रांत कालेज के पास पर गुरुवार की दोपहर को तेज रफ्तार ने दो मासूम बच्चियों सहित पांच लोगों की जान ले ली। सास-बहू दो पौतियों व दो अन्य रिश्तेदारों के साथ मुरैना जाने के लिए सड़क किनारे खड़े होकर यात्री वाहन का इंतजार कर रहे थे। बिजौली की तरफ से तेज रफ्तार के साथ आई बेकाबू बोलेरो से चालक पांचों को कुचलता हुआ गाड़ी भगा ले गया। 60 साल की राजाबेटी, उसकी बहू राजाबेटी पौथी रेशमा, पूरन व एक अन्य रिश्तेदार पप्पू जाटव की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक मुरैना के निवासी है। सुरेश खरे सहित दो लोग झाड़ियों में पीछे गिरकर बच गए। पुलिस के आनन-फानन में स्पाट से शवों को उठाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने हाइवे पर जाम लगा दिया। जाम छह घंटे तक चला। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सीसीटीवी फुटेज से बोलेरो की पहचान कर थाटीपुर के गौतम नगर से गाड़ी बरामद कर चालक लाखन जाटव को पकड़ लिया है। पुलिस आरोपित का मेडिकल कराकर इस बात का पता लगा रही है कि आरोपित दुर्घटना के समय कोई नशा तो नहीं किया था।

यह भी आशंकाः एसएसपी अमित सांघी का कहना है कि घटनास्थल को देखने के बाद यह तो साफ है कि गाड़ी काफी स्पीड से थी और चालक के नियंत्रण से गाड़ी बाहर होने के कारण यह हादसा हुआ है। आशंका है कि या तो सामने से आ रही गाड़ी को बचाने के चक्कर में गाड़ी बेकाबू हुई है या फिर चालक नशे की हालत में था।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close