ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बिलौआ के दो युवकों से शादी कर सात लाख रुपये से अधिक के गहने समेटकर गायब हुईं दोनों युवतियों ने सोमवार को डबरा कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कोर्ट ने दोनों युवतियों को पूछताछ के लिए बिलौआ थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। युवतियों ने गहने ले जाना कुबूल कर लिया है। पुलिस ने आरोपित युवतियों के पास से कुछ सोने के गहने व 12 हजार 500 रुपये बरामद कर लिए हैं। पुलिस धोखाधड़ी के मामले में लिप्त दो आरोपितों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। अन्य ठगी की घटनाओं के संबंध में दोनों युवतियों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

एएसपी जयराज कुबेर ने बताया कि बिलौआ निवासी वीरेंद्र उर्फ पिंकी जैन ने लिखित शिकायत कर बताया था कि उसके छोटे भाई दीपक जैन व सुमन का विवाह 3 अक्टूबर 2020 को उज्जैन निवासी नंदनी मित्तल व रीना मित्तल से हुई थी। शादी के बाद दोनों भाइयों की पत्नियां तीन महीने में केवल 15 दिन साथ रहीं। यह शादी इंदौर के बाबूलाल जैन ने गरीब बताकर कराई थी। संदीप व आकाश मित्तल को इनका भाई बताया था। नंदनी की फेसबुक आइडी रिंकी प्रजापति के नाम से व टीना यादव के नाम से है। भाइयों की फेसबुक आइडी अलग-अलग नाम से है। उज्जैन पुलिस से संपर्क करने पर पता चला कि यह ठगी का संगठित गिरोह है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर इनकी तलाश शुरू कर दी थी। पुलिस इस मामले में नामजद दो आरोपितों को पहले ही पकड़कर जेल भेज चुकी है। पुलिस दोनों आरोपित युवतियों को पकड़ने के लिए दबाव बना रही थी। पुलिस के दबाव से मजबूर होकर दोनों युवतियों ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया। दोनों युवतियों से और भी ठगी के राज खुल सकते हैं।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local