- घायल ने पुलिस को बताया कि धमकाते समय गोली धर्मेंद्र के हाथ से चली थी।

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। गोली लगने से घायल किशोरी का डबरा थाना पुलिस ने शनिवार को बयान लिया था। घायल किशोरी ने पुलिस को बताया कि हरेंद्र लगभग पिछले एक साल से उसका शोषण कर रहा है। 9 मई को टेकनपुर से आरोपित चाचा धीरू की मदद से जबरन अपने साथ जीजा धर्मेंद्र कुशवाह के घर ले गया। गुरुवार की शाम को हरेंद्र व उसका जीजा शादी करने के लिये पिस्टल से धमका रहे थे। अचानक गोली चल गई और उसे लग गई। इससे पहले किशोरी दो बयान दिये थे। उनके संबंध में पीड़िता का कहना है कि वह आरोपित के डर से दिये थे। पुलिस अब आरोपित धर्मेंद्र व उसके चाचा धीरू की तलाश कर रही है। पुलिस ने किशोरी के अपहरण के आरोप हरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने धर्मेंद्र के हाथ से चली गोली लगने की बात साफ होने के बाद धर्मेंद्र की हत्या के प्रयास के मामले में और हरेंद्र के चाचा की किशोरी के अपहरण में सहभागी होने पर तलाश शुरू कर दी है। पुलिस पार्टियां आरोपित की तलाश में भिंड- मुरैना भेजी गईं हैं।

संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से घायल अपह्रत किशोरी को लेकर हरेंद्र गुर्जर अस्पताल पहुंचा था। हरेंद्र ने पुलिस को बताया कि दो बाइक सवार बदमाशों ने बड़ा गांव हाइवे पर गोली मार दी। और पर्स लूटकर ले गये। पुलिस की पड़ताल में यह कहानी झूठी निकली। आरोपित ने किशोरी पर दवाब बनाकर सात नंबर चौराहे पर स्थित निजी हास्पिटल में अलग बयान दिलाया था। उसकी कहानी झूठी निकलने पर आरोपित ने कहा कि बहनोई की पिस्टल देखते समय गोली उसके हाथ से चल गई थी। पुलिस को संदेह था कि गोली धर्मेंद्र कंसाना के हाथ से चली है। जो कि परिवार सहित फरार हो गया है। पुलिस यह भी बता लगा रही है कि जिस पिस्टल से गोली चली थी वह लाइसेंसी है कि अवैध। हालांकि इस पिस्टल को हरेंद्र लाइसेंसी बता रहा है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local