ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सागर में अग्निवीर भर्ती रैली 7 अक्टूबर से शुरू होने जा रही है। इसमें शामिल होने के लिए गुरुवार से अभ्यर्थी रवाना होंगे। पहले दिन श्योपुर के युवक भर्ती रैली में शामिल होंगे, वहीं ग्वालियर के युवकों की परीक्षा 8 अक्टूबर को है। रात 10 बजे तक अभ्यर्थियों को भर्ती स्थल पर रिपोर्टिंग करना है, इसके चलते 6 अक्टूबर से ही अभ्यर्थी यहां रवाना होंगे। इसके चलते बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर कड़ी सुरक्षा रहेगी। श्योपुर के कई युवक बुधवार रात को भी रवाना हुए।

ग्वालियर, भिंड, मुरैना, शिवपुरी, श्योपुर, दतिया, शिवपुरी, अशोकनुगर, गुना, निवाड़ी, टीकमगढ़, छतरपुर, दमोह, सागर के युवकों के लिए 7 से 20 अक्टूबर तक भर्ती रैली आयोजित होनी है। अब सिर्फ एक दिन ही बचा है। इसके चलते युवक भर्ती में शामिल होने के लिए रवाना होना शुरू हो गए हैं। श्योपुर के युवकों की 7 अक्टूबर को परीक्षा है, अधिकांश युवक ग्वालियर होते हुए ही सागर के लिए रवाना हो रहे हैं। 6 अक्टूबर को ग्वालियर के युवक भी रवाना होंगे, क्योंकि 8 अक्टूबर की परीक्षा में शामिल होने के लिए 7 अक्टूबर रात 10 बजे तक पहुंचना होगा। रेलवे स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ द्वारा निगरानी रखी जा रही है। बस स्टैंड पर जिला पुलिस बल लगाया जाएगा। 8 अक्टूबर के बाद दो दिन भिंड और चार दिन मुरैना के युवकों की परीक्षा होनी है, इसके चलते अब लगातार कड़ी सुरक्षा रहेगी।

सेना भर्ती को लेकर ट्रेनों में अलर्ट, सुरक्षा बल भी तैनात किए

अग्नीवीर सेना भर्ती रैली कका छह से 20 अक्टूबर के बीच सागर में अायोजन किया जा रहा है। इस रैली में ग्वालियर-चंबल संभाग से बड़ी संख्या में युवा पहुंचने वाले हैं। ये ट्रेन व स्टेशन पर उपद्रव व तोड़फोड़ न करें, उसको लेकर जीअारपी व अारपीएफ ने अलर्ट जारी किया है। सुरक्षा जवान तैनात किए हैं, जो स्टेशन व ट्रेनों पर नजर रखेंगे। सेना भर्ती के लिए जाने वाले युवा अक्सर ट्रेनों में हंगाम करते हैं और यात्रियों को भी परेशान करते हैं। बीना व सागर जाने वाली ट्रेनों पर नजर रहेगी। सेना भर्ती रैली में 14 जिले के 73 हजार युवाओं की पहुंचने की संभावना है। हालांकि जिले के हिसाब से इन्हें बुलाया गया है। सागर के लिए ग्वालियर से सीमित ट्रेनें है। हीराकुंड सप्ताह में तीन दिन, जम्मू तवी दुर्ग एक्सप्रेस सप्ताह में दो दिन, उत्कल एक्सप्रेस, मप्र संपर्क क्रांति, गोंडवाना एक्सप्रेस सागर होते हुए जाती है। बीना से ट्रेन बदलनी पड़ती है। सागर जाने के लिए सीमित साधन है। इसके चलते ट्रेनों पर दवाब बढ़ेगा। इन ट्रेनों में भीड़ बढ़ेगी। यात्रियों को परेशानी न हो और तोड़फोड़ न हो, उसको लेकर अतिरिक्त जवान तैनात किए हैं। स्टेशन पर जवान तैनात हैं। यदि कोई युवा ट्रेन में हंगामा करता है तो उसे तत्काल उतार लिया जाएगा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close