ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। सुपर स्पेशियलिटी में हुई आगजनी की घटना की जांच शुरू हाे गई है। दिल्ली से आई टीम ने अस्पताल का निरीक्षण करके देखा कि आखिर आग लगी ताे फायर सिस्टम ने काम क्याें नहीं काम किया, अलार्म क्याें नहीं बजा। इन तमाम सवालाें के जवाब खाेजकर कमेटी अपनी रिपाेर्ट तैयार करेगी आैर कंपनी के साथ ही जेएएच प्रबंधन काे साैंपेगी। जिससे इन कमियाें काे दूर किया जा सके।

21 नवंबर को जेएएच के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के आइसीयू में आग लगी थी। इसके बाद इसी अस्पताल में तीन मरीजाें की माैत भी हुई थी। यह मामला जेएएच से निकलकर प्रदेश व केंद्र तक पहुंच गया है। जेएएच अधीक्षक ने इसकी सूचना निर्माण कंपनी को दी। साथ ही उन्होंने अस्पताल की खामियों को लेकर भी कंपनी को चेताया था। जिसके बाद हरकत में आई निर्माण कंपनी एचएससीसी ने इंजीनियरों का दल सुपर स्पेशियलिटी भेजकर वहां की पूरी जांच कराई है।

जल्दी भोपाल का दल भी करेगा निरीक्षण: जेएएच के सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में आग की घटना के बाद चिकित्सा शिक्षा विभाग के अफसरों में भी हलचल है। जिसको लेकर एक दल जल्द ही अस्पताल का निरीक्षण के लिए आने वाला है। जो आइसीयू से लेकर पूरे अस्पताल का भ्रमण करेगा और आग्निकांड के कारणों की जानकारी जुटाएगा। अस्पताल लगी मशीनों की जानकारी भी लेगा।

वर्जन-

निर्माण कंपनी के इंजीनियराें ने जांच कर ली है। जांच दल ने अस्पताल में बिजली सप्लाई तो ठीक बताई है, लेकिन कुछ समस्याआें के बारे में भी जानकारी दी है। इन खामियाें की पूर्ति हाेने के बाद ही भवन काे हेंडआेवर लेने के लिए कहा गया है।

डा आरकेएस धाकड़, जेएएच अधीक्षक

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस