- ककैटो व पेहसारी से भर चुके, अपर ककैटो में भी आया 75 फीसद पानी

ग्वालियर। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सितंबर में हुई वर्षा से ग्वालियर ग्रीन जोन में आ गया है। शहर में औसत का कोटा पूरा हो गया, लेकिन तिघरा फिर भी खाली रह गया। शुक्रवार को तिघरा का जल स्तर 734.20 फिट रहा। 72 फीसद ही भर सका। जबकि अभी चार फिट खाली है, लेकिनर अपर ककैटो, ककैटो व पेहसारी में पानी आ चुका है। इस कारण इन तीनों बाधों से तिघरा भर सकता है। इसे भरने के लिए नहर भी चल रही है।

पिछले 48 घंटे में ग्वालियर सहित जिले में अच्छी वर्षा दर्ज हुई। घाटीगांव में 90 मिमी मीटर तक पानी वर्षा है। इस वर्षा का असर तिघरा पर नहीं दिखा, क्योंकि जुलाई व अगस्त में वर्षा कम थी। घाटीगांव में जो वर्षा हुई, उसे जमीन ने ही सोख लिया, जिसके चलते वर्षा से जलस्तर नहीं बढ़ सका। हालांकि तिघरा में मई 2023 तक का पानी आ चुका है।

वर्षा थमी, धूप निकलने से बढ़ी उमस

पिछले 48 घंटे से जारी वर्षा शुक्रवार को थम गई। सुबह 10 बजे के बाद धूप निकल आई, जिससे अधिकतम तापमान में 30.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। हालांकि सामान्य से 4.4 डिसे कम रहा। धूप निकलने से हलकी उमस का अहसास हुआ। मौसम विभाग के अनुसार हवा में नमी मौजूद है, जिसकी वजह से स्थानीय प्रभाव से वर्षा के आसार हैं।

बंगाल की खाड़ी से आया कम दबाव का क्षेत्र चक्रवातीय घेरे में बदल गया था। इस कारण बीती रात गरज-चमक के साथ वर्षा हुई। मानसून सीजन के अंत में शहर में अच्छी वर्षा हुई। इससे औसत कोटा पूरा हो गया है। जिला औसत से 4 फीसद पीछे, है, लेकिन इसे औसत वर्षा मानी जाती है।

अधिकतम तापमान-30.2 डिसे

न्यूनतम तापमान-24 डिसे

कुल वर्षा-718.3 मिमी

अंचल के बांधों की स्थिति

बाध भरा

तिघरा 72%

अपर ककैटो 75%

ककैटो 97%

पेहसारी 94 %

हरसी 63 %

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close