दीपक सविता, ग्वालियर नईदुनिया। ग्वालियर में शनिवार एवं रविवार काे अवकाश हाेने के बाद भी बैंकाें के दरवाजे खुले रहे, यहां पर काम भी हुआ। इस दाैरान पीएम स्वनिधि याेजना के तहत स्वीकृत हाे चुके प्रकरणाें में हितग्राहियाें काे ऋण वितरित किया गया। उधर जब लाेगाें ने बैंक में भीड़ देखी ताे लाेग भी पैसे निकालने या जमा करने पहुंच गए, लेकिन वहां पहुंचकर पता चला कि केवल स्वनिधि याेजना के तहत ऋण वितरण का कार्य चल रहा है ताे मायूस हाेकर लाैटना पड़ा।

दरअसल कोरोनाकाल के दौरान जिन लोगों के धंधे उजड़ गए थे या जिन छोटे-छोटे व्यापारियों के धंधों पर गंभीर असर पड़ा था, ऐसे दुकानदारों को आर्थिक सहायता देकर संबल बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम स्वनिधि योजना लागू की थी। इस योजना में ठेले वाले, फुटपाथ कारोबारी, गली मोहल्लों में दुकानें चलाने वालों को 10 हजार रुपये का लोन बिना ब्याज के देने की घोषणा की थी। ऐसे में कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह द्वारा लोन नहीं देने वाले बैंक मैनेजरों को जेल भेजने की धमकी देने के बाद लोन मंजूर होना प्रारंभ हो गए हैं। इसके चलते बैंक अब अवकाश वाले दिन भी खुलना प्रारंभ हो गए हैं। शनिवार को भी बैंक खोले गए और लोन वितरित किए गए। इसी प्रकार रविवार को भी बैंक खोले गए हैं। जिन लोगों के लोन के दस्तावेज नगर निगम मंजूर कर बैंकों में भेज चुका है, उन लोगों को प्रतिदिन फोन कर बैंक जाने के लिए कहा जा रहा है। जिससे तत्काल बैंक मैनेजर उनके लोन मंजूर कर सकें। इसी का परिणाम है कि 10 हजार रुपये के लोन 20 हजार हितग्रहियाें को वितरित किए जा चुके हैं। जबकि 20 हजार रुपये वाले लोन 803 लोगों को दिए जा चुके हैं। वहीं 10 हजार रुपये के लोन के लिए 25687 प्रकरण भेजे गए थे, इनमें से 20540 केस बैंक पहुंच चुके हैं, जिनमें से 19131 लोगों को लोन सेंशन हो चुका है।

इतने प्रकरण हुए स्वीकृत

20 हजार रुपये के लोन

जिला टारगेट कितने भेजे बैंक इतने हुए स्वीकृत

ग्वालियर 5936 2064 803

सागर 3106 2049 651

उज्जैन 3083 1022 603

रीवा 1908 536 218

बुराहनपुर 1884 471 225

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local