फोटो

ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

महा शिवरात्रि पर शहर के शिवालयों से लेकर सड़कों पर भक्तों की भीड़ लगी रही। चंद कदमों की दूरी पर भक्तों ने प्रसादी वितरण के स्टॉल लगाए। इससे शहर भर में और खासतौर पर शिवालय और वहां पहुंचने वाले रास्तों पर कचरा जमा हो गया। शुक्रवार की सुबह सफाई कर्मचारियों ने सड़कें साफ कर दी थीं। मंदिरों के आसपास चूना भी डाला और डस्टबिन भी रखे। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया तो भक्तों का जोश बढ़ता गया। किसी ने शर्बत तो किसी ने आलू, शकरकंद का हलुआ बांटा। कई स्थानों पर साबूदाने की खिचड़ी भी बांटी गई। हर स्टॉल पर भक्तों को बुलाकर प्रसाद दिया गया। चूंकि कागज और दोने में प्रसाद बांटा गया। इसलिए भक्तों ने खाकर उन्हें सड़कों पर ही फेंक दिया। कुछ जगह भक्तों ने डस्टबिन भी रखे और प्रसादी खत्म होते ही झाड़ू लगाकर सफाई भी कर दी। लेकिन अधिकतर स्थानों पर काफी कचरा पड़ा रहा। रात 8 बजे सफाई कर्मचारियों ने झाड़ू थामी और अचलेश्वर, कोटेश्वर, गुप्तेश्वर, भूतेश्वर सहित अन्य महादेव मंदिरों तथा सड़कों पर सफाई की। आधी रात तक कर्मचारी सफाई करते रहे। शर्बत फैलने और फिसलन जैसी स्थिति बनने पर अचलेश्वर मंदिर के रास्ते पर पानी से सड़कों की धुलाई भी की गई। अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव ने बताया कि शहर में अधिकतर स्थानों पर सफाई कर दी है। कुछ स्थानों पर शनिवार की सुबह सफाई करा दी जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network