ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रोशनीघर पर गोयल परिवार के घर के सामने से निकलने वाले लोग कुछ पल के लिए यहां रुकते हैं तो उनके जहन में एक ही सवाल होता है कि महज तीन मंजिला मकान में लगी आग में फंसे लोग कैसे नहीं बच पाए। मंगलवार की शाम को घर के सामने ही उठावनी की रस्म हुई। 3 बच्चों सहित गोयल परिवार के सातों मृत लोगों के फोटो एक साथ रखे हुए थे। नाते-रिश्तेदार व परिचित के लोगों के मृतकों के चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए आंखें नम थीं। 24 घंटे पहले यह सभी हंस-खेल रहे थे। लेकिन कुछ पल में ही पूरा परिवार उजड़ गया।

ऐसे कैसे हो गया हादसा

उठावनी में आए लोगों की जुबान पर एक ही सवाल था कि इतना बड़ा हादसा कैसे हो गया? यहां आए लोगों में नगर निगम के प्रति आक्रोश भी था। पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद लोग आगजनी का स्थान देखने के लिए भी जा रहे थे। कुछ लोगों का कहना था कि गर्मियों की छुट्टियों में बेटियां भी बच्चों के साथ घर आ जाती हैं। जिससे परिवार में 30 से अधिक लोग हो जाते हैं। शुक्र है कि लॉकडाउन के दौरान बेटियां बच्चों के साथ नहीं आ पाईं, अन्यथा अनर्थ हो जाता।

इसी बोर्ड से आग लगी थी

परिवार के वृद्ध हरिओम गोयल इशारा कर उस बिजली के बोर्ड को दिखा रहे थे जिसमें सबसे पहले आग लगी थी। साथ ही उन्होंने उठावनी में आए परिचितों को बताया कि तार जलकर थिनर के कार्टून पर गिरा। इसके बाद उन्होंने कार्टून को उठाकर बाहर फेंकने का प्रयास किया जिससे डिब्बे नीचे गिरे और आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। हम लोग चीख व चिल्ला रहे थे, लेकिन कोई कुछ नहीं कर पाया।

ईश्वर से भरोसा ही उठ गया

गोयल परिवार की महिलाएं उठावनी में बिलख रही थीं। वे इस बात की कल्पना कर रो रही थीं कि कैसे यह बच्चे आग की लपटों में घिरे होंगे और बचने के लिए कैसे इधर-उधर चीखते-चिल्लाते हुए भाग रहे होंगे। लेकिन कोई मदद के लिए उन तक नहीं पहुंच पाया। आग की लपटों से उन्हें कितनी पीड़ा हुई होगी। इतनी कल्पना करने के साथ घर की एक महिला बोली कि मेरा तो ईश्वर से विश्वास ही उठ गया। अगर ईश्वर होता तो इन मासूमों की जरूर मदद करता।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना