ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि।त्योहार का समय नजदीक आ चुका है। नवरात्र से खरीदारी का मौसम शुरू होता है जो दीपावली तक चलता है। बाजारों में तो खरीदारों की भीड़ होती ही है, आनलाइन खरीदारी का प्रचलन बढ़ा है, जिसके चलते अमेजन की ग्रेट इंडियन फेस्टिवल, फ्लिपकार्ट की बिग बिलियन डेज और जिओ मार्ट पर त्यौहार रेडी सेल शुरू हो चुकी है। दूसरी ई-कामर्स कंपनियों पर भी इस तरह की सेल शुरू हो चुकी हैं या फिर नवरात्र से शुरू होने जा रही हैं। ऐसे में अगर आप भी खरीदारी करने जा रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है। आनलाइन खरीदारी करते समय अक्सर आप लुभावने आफर को देखकर इसे खरीद लेते हैं, लेकिन ऐसा करने पर कई बार या तो अच्छी गुणवत्ता का प्रोडक्ट नहीं मिल पाता या फिर पैसे बचाने के चक्कर में ठगी तक का शिकार हो जाते हैं। हम आपको बता रहे हैं, 10 टिप्स। जब भी आनलाइन खरीदारी करें तो यह टिप्स ध्यान रखें, जो आपकी खरीदारी को आसान बनाएंगी, आपको एक अच्छा प्रोडक्ट चुनने में मदद करेंगी और आप ऐसी ठगी से बच सकेंगे जो आपकी छोटी सी चूक के कारण होती हैं। पढ़िए पूरी रिपोर्ट...

1- जब भी आनलाइन खरीदारी करें, ऐसी ई-कामर्स कंपनी की बेवसाइट या एप का इस्तेमाल करें जो विश्वसनीय हैं। आजकल छोटी-छोटी कंपनियां बन गई हैं, जो सीधे बड़े ब्रांड के संपर्क में न होकर डीलर से माल खरीदकर बेचती हैं, इनसे बचें। कई बार ऐसे में आप सायबर फ्राड का भी शिकार हो जाते हैं। जो बड़ी ई-कामर्स कंपनियां हैं, इनकी आफिशियल बेवसाइट का ही इस्तेमाल करें।

2- जो प्रोडक्ट आप खरीद रहे हैं, सबसे पहले उसकी गारंटी, वारंटी देखें। इसकी तुलना दूसरी ई-कामर्स कंपनी की बेवसाइट पर करें, इससे आपको पता लगेगा कहां गारंटी, वारंटी बेहतर मिल रही है। इस आधार पर खरीदारी करें।

3- प्रोडक्ट की कीमत, सिर्फ एक बेवसाइट पर लुभावना आफर देखकर प्रोडक्ट न खरीदें क्योंकि हो सकता है इससे अच्छा आफर दूसरी कंपनी दे रही हो, इसलिए दो या दो से अधिक कंपनियों की बेवसाइट पर जाकर प्रोडक्ट की कीमत की तुलना करें।

4- जो प्रोडक्ट आप खरीद रहे हैं, उसका रिव्यू गूगल, ई-कामर्स बेवसाइट, यूट्यूब पर उपलब्ध है। इनके रिव्यू जरूर पढ़ें, जिससे आपको समझ आएगा कि प्रोडक्ट की गुणवत्ता कैसी है। क्योंकि आनलाइन खरीदारी करते समय आप प्रोडक्ट को छूकर या चलाकर नहीं देख सकते। इसलिए रिव्यू सबसे सही विकल्प है। जानकारों का मानना है, अगर रिव्यू में रेटिंग 4 है तो इसे खरीद सकते हैं।

5- ई-कामर्स कंपनी की बेवसाइट पर प्रोडक्ट एसयोर्ड भी मिलने लगे हैं, यानि प्रोडक्ट की गुणवत्ता कंपनी द्वारा जांची गई है, अगर एसयोर्ड लिखा है तो इसे आप खरीद सकते हैं।

6- आनलाइन खरीदारी में कैश आन डिलीवरी सबसे सही विकल्प है। इससे पहले भुगतान नहीं किया जाता, प्रोडक्ट आने के बाद भुगतान किया जाता है। अगर अलग-अलग बैंक के क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड से खरीदारी पर कुछ छूट मिल रही है तो जब भी इसका भुगतान कार्ड से करें तो इसे सेव न करें। क्योंकि बेवसाइट पर खरीदारी करते समय कार्ड सेव का आप्शन आता है। इसके बाद अपना पासवर्ड बदल लें।

7- जिस कंपनी से खरीदारी कर रहे हैं, उसकी रिटर्न पालिसी, डैमेज पालिसी जरूर पढ़ें। कई बार लोग इसे नहीं पढ़ते और जब प्रोडक्ट में कोई खामी निकलती है तो परेशानी आती है।

8- जिस बेवसाइट से खरीदारी कर रहे हैं, उसके पहले यह देख लें एचटीटीपीएस लिखा है या नहीं, अगर सिर्फ एचटीटीपी लिखा है तो यह सुरक्षित नहीं है कतई खरीदारी न करें।

9- कई कंपनियों का बैंक व फायनेंस कंपनियों से टाइअप है, इसके चलते जब इन बैंक के क्रेडिट, डेबिट कार्ड या कंपनी के पे-वालेट से खरीदारी करते हैं तो इएमआइ आप्शन आते हैं। इसे ध्यान से देख लें, ब्याज दर देख लें। हर माह की इएमआइ जितनी आ रही है, उसका पूरा जोड़ कर देखें प्रोडक्ट की कीमत पर कितना अंतर आ रहा है। अगर ब्याज अधिक लग रहा है तो इस आप्शन को न चुनें।

10- कई छोटी कंपनियां या फिर फेसबुक, इंस्टाग्राम और इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट आती हैं, जिसमें बहुत कम कीमत में प्रोडक्ट दिए जाने का लालच दिया जाता है। इनके झांसे में न आएं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close