- 30 मई से रतलाम इंटरसिटी और आठ जून के बाद बरौनी में मिलेंगे बेडरोल

ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। उत्तर मध्य रेलवे के अंतर्गत ग्वालियर से बनकर चलने वाली दो और ट्रेनों के एसी कोच के यात्रियों को बेडरोल (कंबल, चादर व तकिया) की सुविधा उपलब्ध होने लगी है। यह सुविधा ग्वालियर-हावड़ा चंबल एक्सप्रेस और ग्वालियर-बलरामपुर सुशासन एक्सप्रेस में शुरू की गई है। चंबल एक्सप्रेस में मंगलवार व सुशासन एक्सप्रेस में बुधवार से यह सुविधा बहाल की गई है। आगामी 30 मई से ग्वालियर-रतलाम इंटरसिटी में भी यात्रियों को बेडरोल मिलने शुरू हो जाएंगे। इसके अलावा ग्वालियर से बरौनी जाने वाली बरौनी मेल गोंडा स्टेशन पर नान इंटरलाकिंग कार्य के चलते आठ जून तक निरस्त की गई है। ऐसे में ट्रेन के बहाल होने पर उसमें भी यह सुविधा शुरू कर दी जाएगी।

ग्वालियर में मैकेनाइज्ड लाउंड्री का संचालन बंद होने के कारण स्थानीय स्तर पर धुलाई की व्यवस्था कर सिर्फ बुंदेलखंड एक्सप्रेस में यात्रियों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जा रही थी। ग्वालियर से बनकर चलने वाली चार अन्य ट्रेनों के यात्रियों को इंतजार करना पड़ रहा था, लेकिन अब बुधवार तक कुल तीन ट्रेनों में यह सुविधा बहाल हो गई है। कोविड संक्रमण की संभावना को देखते हुए मार्च 2020 से ट्रेनों में बेडरोल की सुविधा बंद कर दी गई थी। दो साल बाद रेलवे बोर्ड ने गत 10 मार्च को ट्रेनों में बेडरोल मुहैया कराने के आदेश दिए थे, लेकिन मैकेनाइज्ड लाउंड्री बंद होने के कारण ग्वालियर से बनकर चलने वाली चार ट्रेनों में यात्रियों को यह सुविधा नहीं मिल रही थी। रेलवे के अफसरों ने स्थानीय स्तर पर व्यवस्था बनाते हुए गत मार्च माह में ही सिर्फ बुंदेलखंड एक्सप्रेस के एसी कोच में बेडरोल की सुविधा उपलब्ध करानी शुरू कर दी थी। अब दो अन्य ट्रेनों में भी यह सुविधा बहाल कर दी गई है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close