ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर में हथियार सुरक्षा के लिए नहीं शान के लिए रखा जाता है। यही वजह है कि प्रदेश की राजधानी भोपाल और सबसे बड़े शहर इंदौर से भी ज्यादा लाइसेंसी हथियार ग्वालियर में हैं। अब यह शौक इतना हावी हो चुका है कि लोग हथियार की ठसक पूरी करने के लिए अवैध हथियार तक खरीद रहे हैं। ऐसे एक नहीं कई उदाहरण ग्वालियर में हैं, जिसमें हथियार का शौक पूरा करने के लिए अवैध कट्टा और पिस्टल युवकों ने खरीदी, फिर अपना फोटो-वीडियो इंटरनेट मीडिया पर अपलोड किया। यह फोटो-वीडियो वायरल हुए और अब ऐसे कई लोग सलाखों के पीछे हैं। यह खतरनाक ट्रेंड है।

चिंता वाली बात यह है कि अवैध हथियार के खरीदारों में 18 से 25 वर्ष के बीच की उम्र वाले युवक सबसे ज्यादा हैं। पुलिस ने जनवरी 2021 से लेकर अप्रैल 2022 के बीच 16 माह में 285 अवैध हथियार पकड़े। इन आंकड़ों का विश्लेषण जब नईदुनिया ने किया तब यह हकीकत सामने आई कि अब हथियार रखने का शौक अवैध हथियार के काले कारोबार को बढ़ा रहा है। यही वजह है कि अब पुलिस भी ऐसे लोगों पर सख्ती से कार्रवाई कर रही है, इसके चलते इस साल चार माह में ही पुलिस ने 95 अवैध हथियार पकड़े। जबकि 2021 में पूरे साल में 190 अवैध हथियार पकड़े थे।

आंकड़ाें से समझें स्थितिः

वर्ष- रायफल- 12 बोर बंदूक- रिवाल्वर- कट्टा- अधिया- कंट्री मेड पिस्टल- राउंड

2021- 0- 5- 3- 129- 8- 45- 308

2022(जनवरी से अप्रैल)- 1- 2- 0- 80- 4- 8- 116

मैग्जीन भी पकड़ीः पुलिस ने 2021 में 7 मैग्जीन भी पकड़ीं, लेकिन इस साल चार माह में एक भी मैग्जीन नहीं पकड़ी। 2021 में पुलिस ने 12 माह में कुल 190 कट्टे, पिस्टल, रिवाल्वर, अधिया पकड़ीं। वहीं 2022 में पुलिस ने 95 अवैध हथियार पकड़े।

कट्टे, पिस्टल के साथ फाेटाे का शाैकः पुलिस ने 16 माह में 285 अवैध हथियार पकड़े। इसमें से 27 प्रकरण ऐसे हैं, जिनमें हथियार रखने का शौक पूरा करने, अवैध हथियार के साथ इंटरनेट मीडिया पर फोटो अपलोड करने वालों को पकड़ा गया। इनके फोटो, वीडियो वायरल हुए थे। इसमें से कुछ ऐसे भी थे, जिन्होंने अवैध कट्टे, पिस्टल से गोली चलाते हुए फोटो-वीडियो अपलोड की। ऐसे जो लोग पकड़े गए, उसमें से अधिकांश युवकों की उम्र 18 से 25 वर्ष के बीच थी यानी 18 वर्ष से 25 वर्ष के बीच के युवकों में हथियार रखने का शौक बढ़ रहा है और यह लोग अवैध हथियार तक खरीद रहे हैं। तीन तो नाबालिग ही थे, इनकी उम्र 16 और 17 वर्ष थी। 285 में से कई अवैध हथियार के तस्कर पकड़े गए, इनमें से अधिकांश तस्करों की उम्र भी 18 से 30 वर्ष के बीच थी। कुछ शहर के और कुछ शहर के बाहर के थे।

अपराध की राह पर ले जा रहा, हथियार का नशा: हजीरा इलाके में रहने वाले दो पुलिसकर्मियों के बेटे। एक की उम्र 19 साल थी और दूसरे की उम्र 17 साल। 19 वर्षीय युवक 17 साल के किशोर को अपने साथ ले गया। 19 वर्षीय युवक का नाम अंकित त्यागी है, वह उप्र के खूंखार गैंगस्टर रहे श्रीप्रकाश शुक्ला का फेन था, उसने इंटरनेट मीडिया पर पेज भी बना रखा था। 17 वर्षीय किशोर के घर से 8 लाख रुपये भी उसने चोरी कराए। दोनों महंगे होटल में रहे, इंटरनेट मीडिया के जरिये ही बिहार स्थित समस्तीपुर के हथियार तस्कर से संपर्क किया। 1 लाख रुपए में दो पिस्टल खरीदीं, पुलिस ने इन्हें पिस्टल के साथ पकड़ा। इसी तरह उपनगर ग्वालियर में रहने वाली एक युवती ने कट्टे के साथ इंटरनेट मीडिया पर फोटो अपलोड की, उसके दोस्त ने उसे कट्टा दिया था। पुलिस ने युवक को पकड़ा, उस पर आर्म्स एक्ट के तहत एफआइआर दर्ज की।

ग्वालियर में 33 हजार लाइसेंसी हथियार, 1300 से ज्यादा पिस्टल: ग्वालियर में करीब 33 हजार लाइसेंसी हथियार हैं, इसमें से 1300 से ज्यादा पिस्टल हैं। यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।

खरगौन, बुरहानपुर से सप्लाई हो रहे अवैध हथियार, इंटरनेट मीडिया पर डील: शहर में खरगौन, बुरहानपुर के एजेंट अवैध हथियार सप्लाई करते हैं। कंट्री मेड पिस्टल सबसे ज्यादा यहीं से आती है। 10 से 20 हजार रुपये में पिस्टल मिल जाती है। इंटरनेट मीडिया पर एजेंट हथियारों की डील कर रहे हैं।

वर्जन:

अवैध हथियार लेकर घूमने वाले और अवैध हथियारों की सप्लाई करने वालों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। इस साल चार माह में ही 95 अवैध हथियार पकड़े हैं। इंटरनेट मीडिया पर भी हमारी टीम निगाह रखती है, इसके चलते इंटरनेट मीडिया पर हथियार के साथ फोटो-वीडियो अपलोड करने वाले वालों को भी गिरफ्तार किया है। अवैध हथियार लगातार पकड़े जा रहे हैं, इससे अपराध का ग्राफ भी नीचे आया है।

अमित सांघी, एसएसपी, ग्वालियर

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close